राष्ट्रीय | अंतरराष्ट्रीय | प्रादेशिक | यूथ मीटर | जनगणना 2011 | मप्र-छग | कैंपस बज़ | मिस्र में जन आंदोलन | युवा | नक्सलवाद | स्वाइन फ्लू | बीजेपी अधिवेशन | विकीलीक्स | अयोध्या
मुख पृष्ठ » खबर-संसार » समाचार » अंतरराष्ट्रीय » कसरत से बढ़ती है काम शक्ति (Increase Sex Power)
कसरत करने से सेहत को होने वाले फायदे तो जग जाहिर हैं, लेकिन एक अध्ययन में यह भी खुलासा हुआ की कसरत से पुरुषों में कामशक्ति भी बढ़ती है।

कसरत करने से दिल की बीमारी दिल के दौरे मधुमेह नपुंसकता तनाव स्मृति लोप आंत के कैंसर और हड्डी टूटने का खतरा कम हो जाता है।

हार्वर्ड मेन्स हेल्थ वार्चं की मई 2007 की रिपोर्ट में बताया गया कि इतने सारे फायदों के साथ ही कसरत करने से पुरूषों की यौन क्षमता भी बढ़ती है।

पत्रिका का कहना है कि ग्रंथि कैंसर पर कसरत के असर के बारे में दावे से कुछ नहीं कहा जा सकता। कुछ अध्ययन में कसरत से कैंसर का खतरा कम होने की बात कही गई है जबकि कुछ अध्ययन ऐसा नहीं मानते।

हालांकि यौन उत्तेजना से जुड़ी समस्याओं से जिंदगी को कोई खतरा नहीं होता फिर भी ये समस्याएँ खत्म होने से जीवन का आनंद तो बढ़ ही जाता है।

हार्वर्ड विश्वविदलय के अध्ययन में कहा गया है कि कसरत करने से उत्तेजना संबंधी समस्याओं में 41 फीसदी तक कमी आती है। वर्ष 2004 में कई चिकित्सा रिपोर्टों के अध्ययन के बाद कहा गया कि तकरीबन 28 मिनट रोजाना सैर करने से नपुंसकता का शिकार व्यक्ति और अधेड़ों में यौन उत्तेजना का स्तर सुधरता है।कसरत करने से सेहत को होने वाले फायदे तो जग जाहिर हैं, लेकिन एक अध्ययन में यह भी खुलासा हुआ की कसरत से पुरुषों में कामशक्ति भी बढ़ती है।

कसरत करने से दिल की बीमारी दिल के दौरे मधुमेह नपुंसकता तनाव स्मृति लोप आंत के कैंसर और हड्डी टूटने का खतरा कम हो जाता है।

हार्वर्ड मेन्स हेल्थ वार्चं की मई 2007 की रिपोर्ट में बताया गया कि इतने सारे फायदों के साथ ही कसरत करने से पुरूषों की यौन क्षमता भी बढ़ती है।

पत्रिका का कहना है कि ग्रंथि कैंसर पर कसरत के असर के बारे में दावे से कुछ नहीं कहा जा सकता। कुछ अध्ययन में कसरत से कैंसर का खतरा कम होने की बात कही गई है जबकि कुछ अध्ययन ऐसा नहीं मानते।

हालांकि यौन उत्तेजना से जुड़ी समस्याओं से जिंदगी को कोई खतरा नहीं होता फिर भी ये समस्याएँ खत्म होने से जीवन का आनंद तो बढ़ ही जाता है।

हार्वर्ड विश्वविदलय के अध्ययन में कहा गया है कि कसरत करने से उत्तेजना संबंधी समस्याओं में 41 फीसदी तक कमी आती है। वर्ष 2004 में कई चिकित्सा रिपोर्टों के अध्ययन के बाद कहा गया कि तकरीबन 28 मिनट रोजाना सैर करने से नपुंसकता का शिकार व्यक्ति और अधेड़ों में यौन उत्तेजना का स्तर सुधरता है।