मंत्री पद छोड़े लेकिन तेदेपा बनी रहेगी राजग का हिस्सा

नई दिल्ली| पुनः संशोधित गुरुवार, 8 मार्च 2018 (15:40 IST)
नई दिल्ली। तेदेपा के नेता वाईएस चौधरी ने गुरुवार को कहा कि वे और उनके सहयोगी अशोक गजपति राजू भले ही मंत्री पद छोड़ रहे हों लेकिन उनका दल का हिस्सा बना रहेगा। उन्होंने कहा कि यह कदम अपरिहार्य परिस्थितियों के कारण उठाना पड़ा।
इस फैसले की दुर्भाग्यपूर्ण तलाक से तुलना करते हुए विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी राज्यमंत्री चौधरी ने कहा कि वे और नागरिक उड्डयन मंत्री राजू आंध्रप्रदेश से सांसद के तौर पर काम जारी रखेंगे।

पार्टी अध्यक्ष एवं आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चन्द्रबाबू नायडु ने बुधवार रात घोषणा की थी कि वे और उनके नेता मंत्रिमंडल छोड़ देंगे। दरअसल, कुछ घंटों पहले केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि केंद्र आंध्रप्रदेश को विशेष दर्जा तो नहीं दे सकता है लेकिन उन्होंने उतनी ही राशि के विशेष पैकेज का प्रस्ताव दिया था।
चौधरी ने कहा कि हम विवाह के समय प्रसन्न होते हैं, न कि तलाक के वक्त। यह एक अच्छा कदम नहीं है लेकिन दुर्भाग्य से अपरिहार्य परिस्थितियों की वजह से हमें यह कदम उठाना पड़ा है। हम मंत्री पद छोड़ रहे हैं लेकिन हमारे अध्यक्ष ने कहा है कि पार्टी राजग का हिस्सा बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की खूबसूरती होती है एकात्मकता लाना और सभी को प्रसन्न रखना और इसकी जिम्मेदारी भाजपा की है। (भाषा)


और भी पढ़ें :