Widgets Magazine

एनआईए करेगी गिलानी और अन्य से पूछताछ

पुनः संशोधित शुक्रवार, 19 मई 2017 (23:37 IST)
श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जम्मू कश्मीर में विध्वंसक गतिविधियों में लश्कर-ए-तैयबा के अध्यक्ष हाफिज सईद और कट्टरपंथी कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी की भूमिका की जांच कर रही है।
 
ने मामला दर्ज करने से पहले के स्तर पर अपनी प्रारंभिक जांच (पीई) में दोनों लोगों के नाम लिए  हैं। उसने नईम खान को भी नामजद किया है जिसे टेलीविजन पर एक स्टिंग ऑपरेशन में कथित तौर पर पाकिस्तान के आतंकी संगठनों से पैसा लेने की बात कबूलते देखा गया था।
 
पीई में अन्य नाम फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे और तहरीक-ए-हुर्रियत के गाजी जावेद बाबा के हैं। एनआईए का दल पीई में नामजद लोगों से पूछताछ करने और उनके खिलाफ दस्तावेजी साक्ष्य एकत्रित करने के लिए आज श्रीनगर पहुंचा। लश्कर-ए-तैयबा प्रमुख हाफिज सईद पाकिस्तान में रहता है।
 
पीई में मामले में जिन लोगों के नाम हैं, एनआईए उनसे अपने समक्ष पेश होने के लिए कह सकती है लेकिन उन्हें ऐसा करने के लिए बाध्य नहीं कर सकती या उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकती।
 
पिछले साल आठ जुलाई को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद स्कूलों को जलाए जाने की घटनाओं के सिलसिले में एकत्रित सबूतों की एनआईए की टीम समीक्षा करेगी।
 
एनआईए की पीई में आरोप है कि अलगाववादियों को कश्मीर घाटी में सुरक्षाबलों पर पथराव करने, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और स्कूलों तथा अन्य सरकारी प्रतिष्ठानों को जलाने समेत विध्वंसक गतिविधियों के लिए पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद से धन मिल रहा है।
 
उन्होंने कहा कि एनआईए ने एक टीवी संवाददाता और कश्मीर घाटी में गतिविधियां चला रहे अलगाववादी संगठनों के नेताओं के बीच इस संबंध में बातचीत की रिकॉर्डिंग से जुड़ी एक खबर का संज्ञान भी लिया है। (भाषा)
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine