भारत मुक्त और निष्पक्ष व्यापार तंत्र के पक्ष में : सुरेश प्रभु

पुनः संशोधित शनिवार, 23 सितम्बर 2017 (18:28 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुक्त एवं निष्पक्ष तंत्र के लिए भारत की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए कहा है कि विश्व व्यापार संगठन के ढांचे में इसके लिए संभावनाएं मौजूद हैं।



प्रभु ने दक्षिण कोरिया में 'सातवीं एशिया-यूरोप आर्थिक मंत्रिस्तरीय बैठक' में भाग लेते हुए कहा कि भारत विश्व व्यापार में मुक्त एवं निष्पक्ष वातावरण को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि 'यूरोप आर्थिक मंत्री स्तरीय बैठक' ने वैश्विक मुद्दों पर आपसी समानता और सम्मान के साथ अपनी राय रखी है। उन्होंने कहा कि भारत विश्व में प्रमुख निवेश स्थल के रूप में उभर रहा है।


प्रभु 21 से 23 सितंबर तक दक्षिण कोरिया की यात्रा पर थे, जहां उन्होंने 'सातवीं एशिय-यूरोप आर्थिक मंत्री स्तरीय बैठक' और भारत-कोरिया व्यापक मंत्रिस्तरीय आर्थिक भागीदारी समझौते की तीसरी संयुक्त मंत्रिस्तरीय बैठक में हिस्सा लिया।





बैठक से इतर प्रभु ने फ्रांस के आर्थिक एवं वित्त राज्यमंत्री बेंजामिन ग्रीवेऑक्‍स, नार्वे के व्यापार, उद्योग एवं मछली पालन उपमंत्री डीलेक अय्हान, डेनमार्क की विदेश मंत्री सुसाने हाईडलुंड और स्पेन के उद्योग एवं आर्थिक मंत्रालय में महानिदेशक जोस लुईस कैसर मोरेरस के साथ द्विपक्षीय बातचीत की। (वार्ता)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :