'किसान और रोजगार' मुद्दे पर राहुल ने मोदी को घेरा

पुनः संशोधित बुधवार, 4 अक्टूबर 2017 (22:27 IST)
अमेठी (उत्तर प्रदेश)। राहुल गांधी ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अगर 'और रोजगार' जैसे दो बडे़ मुद्दों का समाधान नहीं कर सकते तो कह दें, हम ए काम छह महीने में करके दिखा देंगे।
राहुल अपने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अमेठी के ​तीन दिवसीय दौरे पर आए हैं। प्रशासन ने पहले उनके दौरे की अनुमति नहीं दी थी लेकिन बाद में मंजूरी दे दी।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दौरे के पहले दिन जगदीशपुर के कठौरा गांव में चौपाल लगाई। राहुल ने कहा, 'दो मुद्दे हैं हिन्दुस्तान में....किसान और का मसला। इनका समाधान सरकार को करना चाहिए। मोदी जी (इनका समाधान) नहीं कर सकते तो कह दें कि वह नहीं कर सकते। कहें कांग्रेस पार्टी आ जाए और वो मेरा काम कर दे तो हम वो काम छह महीने के अंदर करके दिखा देंगे।'

उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार देना सबसे अहम मुद्दा है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी रोजगार नहीं दे पाए। ये सच्चाई है और इसका पूरे देश को पता है कि मोदी ने कहा था कि दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार मिलेगा...

लेकिन ये इस व्यक्ति के बस की नहीं है...गुस्सा बढ़ता जा रहा है। युवाओं को लग रहा है कि वे देश के लिए काम करना चाहते हैं लेकिन मौका ही नहीं है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं तो इससे देश को फायदा नहीं है।
राहुल ने कहा कि मोदी ने स्वयं अमेठी में कहा कि दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देंगे। हिन्दुस्तान में हर रोज 30 हजार युवा रोजगार ढूंढने निकलते हैं लेकिन इनमें से केवल 450 लोगों को ही रोजगार मिलता है। भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोग पहले इसका जवाब दें।

उन्होंने कहा कि हमारा मुकाबला चीन के साथ है। चीन और भारत की आबादी में ज्यादा फर्क नहीं है और दोनों ही बड़े देश हैं। चीन में हर रोज 50 हजार नए युवाओं को रोजगार मिलते हैं लेकिन हिन्दुस्तान में रोज केवल 450 युवा रोजगार पाते हैं।
उन्होंने कहा कि चीन से मुकाबले की आवश्यकता है। मोबाइल फोन हो, वस्त्र हों या चप्पल, सब पर ‘मेड इन चाइना’ लिखा होता है। जब तक हम मेड इन इंडिया, मेड इन अमेठी और मेड इन उत्तर प्रदेश नहीं करेंगे, तब तक ये देश आगे नहीं जा सकता और मोदी जी को देश का समय जाया (बर्बाद) करना बंद करना चाहिए और युवाओं को रोजगार देना शुरू करना चाहिए।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि संप्रग सरकार के समय अमेठी में काफी काम हुआ। राजमार्ग का काम हुआ, अस्पताल, पेट्रोलियम संस्थान एवं अन्य संस्थान बने।
उन्होंने कहा कि फूड पार्क का काम कांग्रेस ने किया था लेकिन भाजपा सरकार ने इसे आगे नहीं बढाया। अमेठी के लिए फूड पार्क सबसे जरूरी चीज थी। फूड पार्क में 40 कारखाने अमेठी में लग जाते। खाद्य प्रसंस्करण, चिप्स, टमाटो सॉस, आंवला के अलग अलग कारखाने लगते। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :