राहुल ने मोदी को बताया स्पीकर मोड वाला मोबाइल फोन

Last Updated: सोमवार, 7 मई 2018 (23:15 IST)
होसकोट (मालुरू)। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पीपीपी कांग्रेस कटाक्ष पर तीखा पलटवार करते हुए सोमवार को उनकी तुलना ऐसे मोबाइल फोन से की, जो स्पीकर और एयरप्लेन मोड में रहता है, काम वाले मोड में नहीं। कर्नाटक में अपने चुनावी दौरे के नौवें चरण में उन्होंने मोदी पर उनके खिलाफ निजी हमले करने का लगाया, क्योंकि उन्हें अन्य मुद्दों के बारे में नहीं बोलना होता है।

उन्होंने बातचीत में कहा कि सेलफोन में 3 मोड होते हैं- पहला काम करने वाला मोड होता है, दो अन्य स्पीकर मोड एवं एयरप्लेन मोड होते हैं। मोदी केवल स्पीकर एवं एयरप्लेन मोड का इस्तेमाल करते हैं, काम वाले मोड का नहीं। उनसे मोदी द्वारा पिछले सप्ताह चुनावी रैली में किए गए उस कटाक्ष के बारे में प्रतिक्रिया देने को कहा गया था जिसमें प्रधानमंत्री ने दावा किया था कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में अपनी हार के बाद कांग्रेस पंजाब, पुडुचेरी और परिवार कांग्रेस बनकर रह जाएगी।
राहुल ने होसकोटे एवं मालुरू में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए कहा कि आपने देखा एवं सुना होगा, मैं नरेन्द्र मोदी के बारे में बात करता हूं। मैं मुद्दों को लेकर उनसे सवाल करता हूं किंतु मैं उनके बारे में सम्मान से बात करता हूं। नरेन्द्र मोदी बुजुर्ग हैं, वे वरिष्ठ हैं, 70 साल के होने जा रहे हैं। मैं उन लोगों का सम्मान करता हूं, जो मुझसे बड़े होते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी भ्रष्टाचार पर नहीं बोल सकते, क्योंकि पार्टी के मुख्यमंत्री प्रत्याशी येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं। वे भ्रष्टाचार के बारे में नहीं बोल सकते क्योंकि येदियुरप्पा उनके बगल में खड़े रहते हैं। वे किसानों के बारे में नहीं बोल सकते, क्योंकि उन्हें उन्होंने एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) नहीं दिया, बोनस नहीं दिया, उनका कृषि कर्ज माफ नहीं किया।
राहुल ने कहा कि वह दलितों के बारे में नहीं बोल सकते, क्योंकि रोहित वेमुला (हैदराबाद का दलित छात्र जिसने आत्महत्या की थी) को उनके लोगों ने मारा था। ऊना में दलितों को उनके लोगों ने मारा। अब बच क्या जाता है? राहुल गांधी, सिद्धारमैया और (मल्लिकार्जुन) खड़गे के बारे में खराब बोलो, वे यही कर रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष कर्नाटक के वर्तमान 3 दिवसीय दौरे में कोलार, बेंगलुरु ग्रामीण, चिक्कबल्लापुर, तुमकुर जिला एवं बेंगलुरु शहर में प्रचार करेंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की भाषा का इस्तेमाल करना प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता किंतु यह मोदी की आदत है।
राहुल ने कहा कि नरेन्द्र मोदी आंबेडकर की प्रतिमा के आगे हाथ जोड़ते हैं, उसे मालाएं पहनाते हैं किंतु जिस लक्ष्य के लिए आंबेडकर ने लड़ाई लड़ी, वह उसके लिए नहीं लड़ते। उन्होंने यह भी कहा कि देशभर में दलितों एवं अल्पसंख्यकों की पिटाई हो रही है, मारा और कुचला जा रहा है।

भाजपा नेता हेगड़े की संविधान के बारे में कथित टिप्पणी का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि मोदीजी ध्यान से सुन लीजिए, आपके पास जितनी भी ताकत है, उतनी लगा लीजिए। आप संविधान नहीं बदल सकते, क्योंकि कांग्रेस पार्टी आपको ऐसा नहीं करने देगी।
उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा के अलावा जेल में समय बिता चुके 4 मंत्री, विवादास्पद रेड्डी बंधुओं के खेमे के 8 लोग चुनावी मैदान में हैं ताकि वे कर्नाटक को लूट सकें। इससे पहले राहुल ने पेट्रोल उत्पादों के ऊंचे दामों का विरोध करते हुए कोलार जिले में साइकल चलाकर विरोध मार्च की अगुवाई की।

बाद में उन्होंने बैलगाड़ी पर खड़े होकर वहां एकत्रित लोगों को संबोधित किया। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा नीत सरकार आम आदमी से धन लेकर अपने अमीर दोस्तों को देना चाहती है। उन्होंने केंद्र सरकार से लोगों को यह जवाब देने को कहा कि वह देश में पेट्रोल के दाम कम क्यों नहीं कर रही है?
कर्नाटक में 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राहुल ने अपने प्रचार अभियान को जारी रखते हुए कोलार के मालुरू में पेट्रोल मूल्यवृद्धि के खिलाफ साइकल चलाकर विरोध मार्च का नेतृत्व किया। कांग्रेस कार्यकर्ता उनके साथ चल रहे थे या उनके पीछे दौड़ रहे थे।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि दुनियाभर में पेट्रोल के दाम गिर रहे हैं जबकि भारत में ये अभी तक ऊंचे हैं। पहले अंतरराष्ट्रीय बाजार में दाम 140 डॉलर प्रति बैरल थे, जो अभी 70 डॉलर प्रति बैरल हैं, लिहाजा सरकार करोड़ों रुपए बचा रही है, पैसा जा कहां रहा है?
राहुल ने कहा कि आप लोगों से यह क्यों नहीं कहते कि आप पेट्रोल एवं डीजल पर जीएसटी नहीं लगाना चाहते? आप आम आदमी से पैसे लेना चाहते हैं और इसे अपने 5 या 10 उद्योगपति मित्रों को देना चाहते हैं। आप देश में स्कूटर, ट्रक, बस एवं अन्य वाहन चलाने वालों से धन लेना चाहते हैं और इसे अपने अमीर मित्रों को देना चाहते हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :