Widgets Magazine

पुलवामा में 3 आतंकी ढेर, 7 आए घेरे में

सुरेश एस डुग्गर|
श्रीनगर। सुरक्षाबलों ने पुलवामा के त्राल इलाके में 3 आतंकियों को ढेर कर दिया है। अधिकारियों के मुताबिक 7 से 8 और आतंकी अभी घेरे में होने की आशंका है। मुठभेड़ अभी जारी है। इस बीच सेना ने कहा है कि अमरनाथ यात्रा पर हमले के कारण चाहे उनके शांति लाने के प्रयासों को धक्का लगा है, पर आतंकियों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा तथा इसके और तेज किया जाएगा।
 
कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 3 आतंकवादियों को मार गिराया है। त्राल के घने जंगलों वाले इलाके सतूरा में एंटी टेररिस्ट ऑपरेशन के तहत यह कार्रवाई की गई है। ऑपरेशन अभी भी जारी है। इस दौरान बाकी बचे आतंकी एक गुफा के अंदर घुस गए हैं जिन्हें सुरक्षाबलों ने घेर लिया है।
 
मुठभेड़ में मारे गए तीनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने कहा है कि अभी यह साफ नहीं है कि ये आतंकी किस संगठन के हैं तथा इनके संगठन का अभी पता नहीं चला है। वे विदेशी आतंकवादी की तरह लग रहे हैं, जरूर ये जैश-ए-मोहम्मद के होंगे। डीजीपी ने यह भी बताया कि कुछ आतंकी गुफा में घुस गए हैं। फिलहाल दोनों तरफ से गोलीबारी जारी है। उम्मीद है कि कुछ और आतंकी मारे जाएंगे।
 
एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर पुलिस, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और सेना के जॉइंट ऑपरेशन के तहत यह कार्रवाई चल रही है। बताया जा रहा है कि इलाके में अभी 7 से 8 और आतंकवादी छिपे हुए हैं।
 
इस बीच भारतीय सेना ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले को सेना की कोशिशों को पीछे धकेलने वाला कदम बताते हुए शनिवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति नियंत्रण में है और सेना आतंकवादियों के खिलाफ अभियान जारी रखेगी। चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधू ने मीडिया से कहा कि अमरनाथ यात्रा हमला हमारी कोशिशों को पीछे धकेलने वाला कदम था, लेकिन हम आतंकवादियों के खिलाफ अपना अभियान जारी रखेंगे। हम स्थिति में सुधार करते रहेंगे।
 
संधू ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। सेना स्थितियों के खराब या चिंताजनक होने को लेकर अत्यधिक चिंतित नहीं है। स्थिति नियंत्रण में रहेगी। उन्होंने साथ ही कहा कि घाटी के युवा देश की सेवा के लिए तत्पर हैं। राज्य से सुरक्षा बलों में युवाओं की भारी संख्या में तैनाती से यह साबित होता है।
 
जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले में अपने हथियारों सहित लापता हुए जवान जहूर अहमद ठाकुर को लेकर संधू ने कहा कि उसके किसी आतंकवादी संगठन में शामिल होने की पुष्टि नहीं हुई है। संधू ने कहा कि हम उसकी तलाश कर रहे हैं। 6 जुलाई को टेरिटोरियल आर्मी की 173 बटालियन के जवान ठाकुर के गंतमुला इलाके से अपने शिविर से एक एके-47 राइफल सहित लापता होने की खबर मिली थी।
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine