जम्मू सीमा पर घमासान, एक बीएसएफ जवान और 4 नागरिकों की मौत

जम्मू। जम्मू सीमा पर पाक सेना की भीषण गोलाबारी में पांच लोगों की मौत हो गई है। इनमें चार नागरिक और एक जवान भी शामिल है। बीस से अधिक लोग जख्मी हैं। इनमें से 10 की दशा नाजुक है। दहशतभरे माहौल में हजारों लोगों ने सुरक्षित स्थानों पर पलायन कर लिया है। इस ओर से भी जवाबी कार्रवाई में पाक सेना को भारी क्षति पहुंचाने का दावा किया गया है।

पाकिस्तान की भारी गोलाबारी में शुक्रवार को सीमा सुरक्षाबल के एक जवान समेत पांच लोगों की मौत हो गई। गोलाबारी में सीमा प्रहरी समेत दो दर्जन के करीब लोग घायल हैं। पाकिस्तानी की भारी गोलाबारी से संभाग में सीमांत क्षेत्रों में दहशत का माहौल बन गया है। एहितयात के तौर पर सीमा से सटे इलाकों में स्कूलों को बंद कर दिया गया है। सीमा सुरक्षाबल पाकिस्तान की गोलाबारी का कड़ा जवाब दे रही है। गोलाबारी प्रभावितों की सुध लेने के लिए जिला प्रशासन ने भी अभियान शुरू कर दिया है।

देर रात को पाकिस्तान ने इन दो सीमांत जिलों में दो दर्जन से अधिक चौकियों व गांवों को निशाना बनाकर गोले दागने शुरू कर दिए। अरनिया के जबोवाल में गोलाबारी का जवाब दे रहे 192 बटालियन के सीताराम उपाध्याय पुत्र बृजनंदन उपाध्याय शहीद हो गए। वह झारखंड के गिरीदीह जिले के पालीगंज गांव के रहने वाले हैं। इस दौरान एक गोला आरएसपुरा के चंदू चक में गिरा जिससे क्षेत्र के निवासी तरसेम व उनकी पत्नी मंजीत कौर की मौत हो गई। जम्मू जिले के बिश्नाह के त्रेवा में मोर्टार शैल फटने से 60 वर्षीय सतपाल पुत्र अमरनाथ व जगमोहन पुत्र साधु राम का निधन हो गया। इस गोलाबारी में कई मवेशी मारे गए हैं व घरों को भी नुकसान हुआ है।

गोलाबारी में रामगढ़ में सीमा सुरक्षाबल का एएसआई, देसराज यादव, आरएसपुरा के जोड़ा फार्म में फारूक दीन, शामका गांव में प्यारा राम, अरनिया के त्रेवा में हरबंस लाल, रमन कुमार, राजेश कुमार घायल हो गए। एक अधिकारी ने बताया कि शहीद जवान की पहचान 28 वर्षीय कांस्टेबल सीताराम उपाध्याय के तौर पर हुई है। वे झारखंड के गिरीडीह के रहने वाले थे और 2011 में बल में शामिल हुए थे। उन्होंने बताया कि उपाध्याय का तीन साल का बेटा और एक साल की बेटी है। सीमा सुरक्षाबल के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 16 और 17 मई की दरमियानी रात हीरानगर इलाके में गोलीबारी हुई, जिसमें बीएसएफ का एक जवान घायल हो गया।

कल दिन में गोलीबारी रूक गई थी लेकिन पाकिस्तान ने कल रात अरनिया सेक्टर में फिर गोलीबारी शुरू की जिसमें आज सुबह एक जवान की मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास आरएसपुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से बिना किसी उकसावे के आज सुबह करीब चार बजे मोर्टार दागे गए और भारी गोलीबारी की गई। बीएसएफ बल ने भी इसका माकूल जवाब दिया। उन्होंने बताया कि आरएस पुरा सेक्टर में रुक-रुककर गोलीबारी जारी है। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पिछले कुछ दिनों से बिना किसी उकसावे के गोलीबारी और घुसपैठ की घटनाएं बढ़ गई हैं।

पिछले सप्ताह भी घुसपैठ की एक कोशिश नाकाम करते समय बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया था। प्रशासन और सेना के जवानों ने इन इलाकों में रहने वाले लोगों को घरों के अंदर ही रहने की हिदायत है जबकि कुछ लोगों को सेक्‍टर से दूर दूसरे इलाकों में भेज दिया गया है। सीमा से 5 किमी के क्षेत्र में स्कूलों को बंद रखा गया है। आरएसपुरा सेक्टर के आसपास के 5 किमी तक के स्कूलों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। पिछले तीन दिनों में जिस तरह से पाकिस्तान की ओर से फायरिंग की गई है, उसमें 22 नागरिक गंभीर रूप से घायल हो गए है। इनमें से आधे की हालत नाजुक है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :