पाक की नापाक हरकत, रिहायशी बस्तियों पर चलाई गोलियां

श्रीनगर| सुरेश एस डुग्गर| पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 अक्टूबर 2017 (11:31 IST)
श्रीनगर। की ओर से जम्मू-कश्मीर की कृष्णा घाटी में शुक्रवार सुबह एक बार फिर भारी गोलाबारी की जा रही है। इस दौरान पाकिस्तानी सेना बड़े हथियारों से भारतीय सीमा के रिहायशी इलाकों में गोलाबारी कर रहा है।
पिछले 24 घंटे में पाकिस्तानी सेना की इस नापाक हरकतों के चलते जहां 2 भारतीय जवान शहीद हो गए हैं, वहीं 5 घायल बताए जा रहे हैं। हालांकि भारतीय सेना पाकिस्तान की इस नापाक करतूत का मुंह तोड़ जवाब दे रही है।

बता दें कि पाकिस्तान की ओर से गुरुवार सुबह से शुरू हुआ गोलाबारी का क्रम शुक्रवार को भी जारी है। रुक-रूक कर पाकिस्तान की ओर से हो रही गोलाबारी शुक्रवार सुबह तेज हो गई।
शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी सेना ने भारत के रिहायशी इलकों में भारी मात्रा में मोर्टार तथा छोटे तोपखानों से गोले दागे हैं, जिसमें आज को किसी के हताहत होने की खबर नहीं है, लेकिन गुरुवार को ऐसे ही हमले में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए, जबकि 5 घायल हो गए हैं। इन सभी को एयरलिफ्ट करके बेस अस्पताल ले जाया गया है।

शुक्रवार को पाकिस्तानी फौज ने जम्मू-कश्मीर के सेक्टर स्थित कृष्णा घाटी इलाके में सीजफायर उल्लघंन किया। पाकिस्तान भारी मोर्टार शेल का इस्तेमाल कर गोलाबारी कर रहा है. पाकिस्तान की तरफ से हो रही फायरिंग में अब तक जान-माल की हानि नहीं हुई है।
सेना के एक प्रवक्ता ने बताया है कि पाकिस्तानी सेना ने पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर छोटे, स्वचालित हथियारों से सुबह आठ बज कर 45 मिनट से बिना किसी उकसावे के और अंधाधुंध गोलीबारी की तथा मोर्टार दागे।

बता दें कि पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक किए जाने के बाद से उनकी सेना की ओर से इस साल सीजफायर उल्लंघन की घटनाओं में वृद्धि हुई है।

2016 में जहां बॉर्डर क्षेत्र में कुल 228 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया जबकि अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर 211 बार सीजफायर का उल्लंघन किया वहीं गृह मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर 2017 तक 600 से ज्यादा बार सीजफायर उल्लंघन किया गया।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :