भ्रष्टाचार ने किया देश खोखला, हिमाचल में जमानती सरकार : मोदी

पुनः संशोधित मंगलवार, 3 अक्टूबर 2017 (18:04 IST)
बिलासपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने को लेकर केन्द्र की पूर्ववती सरकारों पर तीखा प्रहार करते हुए मंगलवार को कहा कि देश कभी गरीब नहीं था, इसे भ्रष्टाचार ने खोखला किया है और अब इस भ्रष्टाचार तथा हिमाचल में बैठी 'जमानती सरकार' दोनों से छुटकारा पाने का समय आ गया है।

प्रधानमंत्री ने का शंखनाद करते हुए यहां एक विशाल जनसभा में कहा, 'भ्रष्टाचार ने इस देश को खोखला कर दिया है। हमारा देश पहले गरीब नहीं था। देश के नागरिक अपने कर्तव्यों के प्रति उदासीन नहीं, सजग थे, लेकिन जब उन्होंने खुली लूट देखी तो वे भी उदासीन हो गए, लेकिन अब फिर से नया युग आया है। अब एक-एक पाई का हिसाब रखा जा रहा है, सारा पैसा जनता के कल्याण में खर्च हो रहा है।'

जनसभा को संबोधित करने से पूर्व उन्होंने बिलासपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की आधारशिला रखी तथा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कांगडा में सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान का शिलान्यास किया और उना में भारतीय इस्पात प्राधिकरण के नए संयंत्र का उद्घाटन किया।


प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले तीन, साढ़े तीन साल में केन्द्र सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी दाग नहीं लगा है, जबकि 2014 से पहले अखबार के पन्नों पर दिन-रात भ्रष्टाचार की खबरें होती थीं। आरोप लगते थे कि कोयला में कितना गया, जल में इतना गया, नभ में इतना गया। अब ऐसी बातें सुनाई नहीं देती हैं।

उन्‍होंने राज्य की वीरभद्र सरकार पर तंज कसते
हुए कहा, आज हिमाचल में जमानती सकार चल रही है। 'मुझसे कुछ लोग मिलने आए थे। ऐसे ही बात चली तो मैंने उनसे पूछा कि हिमाचल के मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार के मामले में जमानत पर हैं, इन्हें बदलते क्यों नहीं तो इ सपर लोगों का जवाब था 'कैसे बदलें। हमारी पूरी पार्टी जमानत पर है। कौन बदलेगा भला। हमारी अध्यक्ष नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं। हमारे युवराज नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं।' उन्होंने व्यंगात्मक लहजे में कहा, अब सब (कांग्रेस पार्टी में) जमानत पर हैं। पार्टी जमानत पर है, सरकार जमानत पर है।


राज्य के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का नाम लिए बिना प्रधानमंत्री ने कहा कि अब हिमाचल के लोग बताएं कि इस जमानती सरकार को जमानत देंगे कि नहीं। मुक्ति देना है कि नहीं। कब तक इस जमानती सरकार को झेलेंगे। उल्लेखनीय है कि वीरभ्रद सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मुकदमा चल रहा है। इस मामले में वे और उनकी पत्नी अभी जमानत पर हैं। उनके परिवार के कुछ अन्य सदस्यों के खिलाफ भी इस मामले में जांच चल रही है। (वार्ता)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :