हॉवित्जर तोपों को चीन बॉर्डर पर किया जाएगा तैनात!

पुनः संशोधित सोमवार, 17 जुलाई 2017 (10:12 IST)
नई दिल्ली। राजस्थान के पोखरण में लंबी दूरी तक मार करने वाली 2 अल्ट्रा लाइट हॉवित्जर तोपों का परीक्षण जारी है। एक अधिकारी ने बताया कि बोफोर्स कांड के 30 साल बाद भारतीय सेना को अमेरिका से ये तोपें मिली हैं।
Widgets Magazine
तोपों के इन परीक्षणों का प्राथमिक लक्ष्य एन-777 ए-2 अल्ट्रा लाइट होवित्जर के प्रोजेक्टाइल रफ्तार और गोले दागने की फ्रीक्वैंसी जैसे बेहद महत्वपूर्ण डाटा जमा करना है। उम्मीद की जा रही है कि इनमें से ज्यादातर तोपों को चीन से लगी सीमा पर तैनात किया जाएगा।

परीक्षण की जानकारी रखने वाले एक सैन्य अधिकारी ने नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर बताया कि ये परीक्षण सितंबर तक जारी रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि 155 मिलीमीटर 39 कैलीबर की इस तोप में भारतीय गोले उपयोग किए जाएंगे। 11 टन की बोफोर्स तोप के मुकाबले हॉवित्जर बहुत हल्की है। साथ ही आकार में भी यह उसकी आधी है और लाने-ले जाने में काफी सुविधाजनक है। इसे समुद्र के जरिए भी ले जाया जा सकता है। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।


Widgets Magazine

और भी पढ़ें :