H-1B वीजा, भारतीय आईटी पेशेवरों के लिए राहत

नई दिल्ली| पुनः संशोधित मंगलवार, 9 जनवरी 2018 (15:38 IST)
नई दिल्ली। H-1B वीजा धारक खासकर भारतीय आईटी इंजीनियर्स के लिए राहत भरी खबर है। फिलहाल इन पर से अमेरिका छोड़ने का खतरा टल गया है।
ट्रंप प्रशासन के एक अधिकारीक के मुताबिक फिलहाल ऐसे किसी प्रस्ताव को लागू करने का मन नहीं बनाया है जिसकी वजह से H-1B वीजा धारकों को अमेरिका छोड़ना पड़े। इससे पहले कहा गया था कि अमेरिका वीजा संबंधी नियमों को सख्त करने पर विचार कर कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि यदि अमेरिका इस तरह का कोई भी फैसला करता है तो वहां काम करने वाले करीब साढ़े सात लाख आईटी इंजीनियर्स की नौकरी भी खतरे में पड़ जाएगी और उन्हें भारत लौटना पड़ सकता है।
वापस आना पड़ेगा।

दूसरी ओर यूएस सिटिजनशिप एंड इमीग्रेशन सर्विस (USCIS) के मीडिया प्रमुख जोनाथन विथंगटन ने कहा कि अगर यूएस ऐसा कुछ करने भी वाला होता तो इसका यह मतलब नहीं कि लोगों को नौकरियां छोड़ अपने देश जाना ही होगा। उन्होंने बताया कि धारा 106 ए-बी के तहत इन पेशेवरों के नियोक्ता एक-एक साल के लिए विस्तार का आग्रह कर सकते हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :