पेट्रोलियम पदार्थों को भी जीएसटी के दायरे में रखें : ओएनजीसी

नई दिल्ली| Last Updated: रविवार, 28 मई 2017 (14:26 IST)
नई दिल्ली। कच्चे तेल, पेट्रोल, डीजल जैसे पेट्रोलियम उत्पादों को वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) व्यवस्था से बाहर रखे जाने का पेट्रोलियम कंपनियों को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

तेल कंपनियों का मानना है कि जीएसटी एक श्रृंखलाबद्ध कर प्रणाली है, ऐसे में कुछ उत्पादों को इसके दायरे से बाहर रखे जाने से कर प्रणाली की कड़ी टूट जाएगी और इसका लाभ उन कंपनियों को नहीं मिल पाएगा जिनके उत्पाद इसके दायरे से बाहर होंगे।

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक दिनेश के. सर्राफ ने इस संबंध में पूछे गए सवाल पर यहां कहा कि जीएसटी व्यवस्था एक श्रृंखलाबद्ध कर प्रणाली है, पेट्रोलियम क्षेत्र में बहुत सारे उत्पाद हैं, इनमें कुछ उत्पादों पर जीएसटी नहीं लगने से इनकी कर की श्रृंखला टूट जाएगी। कंपनियों को ऐसे उत्पादों में विभिन्न इनपुट पर तो कर देना पड़ेगा लेकिन उन्हें आगे इसका क्रेडिट नहीं मिल पाएगा जिससे उन्हें नुकसान होगा। कंपनी के वार्षिक परिणाम इसी सप्ताह घोषित किए गए।

सर्राफ ने कहा कि इस व्यवस्था से पेट्रोलियम पदार्थों की बिक्री करने वाले और उनका उत्पादन अथवा खोज करने वाली दोनों तरह की कंपनियों को नुकसान होगा। एक अनुमान के मुताबिक पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी व्यवस्था से बाहर रखे जाने पर कंपनियों को करोड़ों रुपए के कर नुकसान होगा। कई विशेषज्ञों और कर जानकारों ने पेट्रोलियम उत्पादों के इसके दायरे में लाए जाने की वकालत की है।
हालांकि जीएसटी व्यवस्था को अमल में लाने वाली सर्वोच्च संस्था ‘जीएसटी परिषद’ ने फिलहाल प्राकृतिक गैस, कच्चा तेल, पेट्रोल, डीजल और विमान ईंधन को इसके दायरे से बाहर रखने पर सहमति जताई है। इसे बाद में इसमें शामिल करने पर विचार किया जाएगा। जीएसटी व्यवस्था 1 जुलाई से लागू होनी है।

सर्राफ ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय भी इस दिशा में प्रयासरत है, हालांकि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री भी कह चुके हैं कि जीएसटी परिषद में सहमति बनने के बाद ही पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाया जा सकता है और इसके लिए प्रयास जारी हैं। हम अपनी तरफ से जीएसटी परिषद के समक्ष अपनी बात रख रहे हैं।
ओएनजीसी का एकल शुद्ध लाभ 2016-17 की चौथी तिमाही में 6.2 प्रतिशत घटकर 4,340 करोड़ रुपए रहा जबकि वार्षिक आधार पर मुनाफा 10.9 प्रतिशत बढ़कर 17,900 करोड़ रुपए हो गया। चौथी तिमाही में सकल राजस्व हालांकि 33.7 प्रतिशत बढ़कर 21,714 करोड़ रुपए हो गया, वहीं वार्षिक कारोबार मामूली 0.2 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 77,907 करोड़ रुपए हो गया।

कंपनी निदेशक मंडल ने 16 प्रतिशत का अंतिम लाभांश देने की सिफारिश की है। इससे पहले उसने 105 प्रतिशत लाभांश की घोषणा की हुई है। इस प्रकार 2016-17 के लिए कुल 121 प्रतिशत लाभांश दिया जाएगा। कंपनी के बोनस शेयर के बाद इसे समायोजित किया गया है। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

खुशखबर, अब घर बैठे मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए कितना ...

खुशखबर, अब घर बैठे मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए कितना लगेगा खर्च...
नई दिल्ली। दिल्ली सरकार अगले महीने से दिल्लीवासियों को 50 रुपए के अतिरिक्त शुल्क पर जन्म ...

सावधान, आएगा भयावह भूकंप, मचा देगा तबाही

सावधान, आएगा भयावह भूकंप, मचा देगा तबाही
देहरादून। भूगर्भीय हलचल और इसके प्रभावों का विश्लेषण करने वाले, देश के चार बड़े संस्थानों ...

सात दिनों तक रेडिएटर का पानी पीकर बचाई जान

सात दिनों तक रेडिएटर का पानी पीकर बचाई जान
वॉशिंगटन। अमेरिका में कैलिफोर्निया तट के पास एक चोटी के नीचे भीषण दुर्घटना का शिकार हुई ...

ट्विटर पर मचा कत्लेआम

ट्विटर पर मचा कत्लेआम
माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने टाइप किया है कि वह एक हफ्ते का सफाई अभियान चलाएगा। इसकी ...

नौकरी छूटने पर कब और कितना EPF निकाल पाएंगे

नौकरी छूटने पर कब और कितना EPF निकाल पाएंगे
एंप्लॉयी प्रोविडेंट फंड यानी ईपीएफ़ के ज़रिए कर्मचारी प्रॉविडेंट फंड के तहत भविष्य के लिए ...

एसबीआई ने 70 हजार कर्मचारियों से वापस मांगा ओवर टाइम का

एसबीआई ने 70 हजार कर्मचारियों से वापस मांगा ओवर टाइम का पैसा
देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने 70 हजार कर्मचारियों से ओवर टाइम के ...

अमरनाथ यात्रा के दौरान दिल दे रहा है दगा, अब तक 20 की मौत

अमरनाथ यात्रा के दौरान दिल दे रहा है दगा, अब तक 20 की मौत
श्रीनगर। अमरनाथ यात्रा में शामिल होने वालों का दिल फिर से दगा दे रहा है। नतीजतन यात्रा ...

अमरनाथ हिमलिंग पिघलकर आधा हुआ

अमरनाथ हिमलिंग पिघलकर आधा हुआ
श्रीनगर। बीस दिनों के भीतर ही अमरनाथ यात्रा का प्रतीक हिमलिंग पिघलकर आधा रह गया है। ऐसा ...

विमान यात्रियों की जेब होगी ढीली, 'अतिरिक्त शुल्क' से महंगा ...

विमान यात्रियों की जेब होगी ढीली, 'अतिरिक्त शुल्क' से महंगा होगा विमान का सफर
नई दिल्ली। हवाई अड्डों पर व्यस्त समय के दौरान एयरलाइन कंपनियों को स्लॉट के इस्तेमाल के ...

प्रधानमंत्री मोदी की अपील, सदन चलाने में सहयोग करे विपक्ष

प्रधानमंत्री मोदी की अपील, सदन चलाने में सहयोग करे विपक्ष
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी विपक्षी दलों से संसद का मानसून सत्र सुचारू ...

Oppo Find X दुनिया का सबसे खास कैमरे वाला स्मार्टफोन भारत ...

Oppo Find X दुनिया का सबसे खास कैमरे वाला स्मार्टफोन भारत में लांच, 35 मिनट में होगा फुल चार्ज
ओप्पो ने अपना Oppo Find X भारत में लांच कर दिया है। इस फोन को सबसे पहले पेरिस में लांच ...

Oppo A3s स्मार्टफोन 'सुपर फुल स्क्रीन' पैनल और आ सकते हैं ...

Oppo A3s स्मार्टफोन 'सुपर फुल स्क्रीन' पैनल और आ सकते हैं ये दमदार फीचर्स
चीनी कंपनी Oppo भारत में एक से बढ़कर एक स्मार्ट फोन लांच कर रही है। अब ओप्पो नया फोन लांच ...

एमटेक ने लांच किए दो फीचर फोन

एमटेक ने लांच किए दो फीचर फोन
नई दिल्ली। किफायती मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनी एम टेक ने दो नए फीचर फोन रागा और वी 10 लॉच ...

नौ कैमरे वाला स्मार्ट फोन, DSLR कैमरा भी हो जाएगा फेल

नौ कैमरे वाला स्मार्ट फोन,  DSLR कैमरा भी हो जाएगा फेल
मोबाइल कंपनियां रोज नई टेक्नोलॉजी ला रही हैं। अब मोबाइल का इस्तेमाल बातें करने के लिए ...

फेस अनलॉक और सेल्फी फ्लैश के साथ आया माइक्रोमैक्स का सस्ता ...

फेस अनलॉक और सेल्फी फ्लैश के साथ आया माइक्रोमैक्स का सस्ता स्मार्टफोन Canvas 2 Plus
माइक्रोमैक्स ने कैनवास सीरिज का नया स्मार्टफोन Canvas 2 Plus (2018) लांच कर दिया है। इस ...