सरकार को 15 करोड़ लोगों के ‘माईगव’ मंच से जुड़ने की उम्मीद

पुनः संशोधित शनिवार, 6 अगस्त 2016 (20:25 IST)
नई दिल्ली। सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर ने आज ‘माईगव’को डिजिटल इंडिया का सबसे बड़ा मंच बताते हुए उम्मीद जताई कि इस सरकार-नागरिक भागीदारी मंच के प्रयोगकर्ताओं की संख्या कम से कम 10-15 करोड़ होनी चाहिए।
प्रसाद ने माई गव के दो साल पूरे होने के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश बदल  रहा है। डिजिटल लोकतंत्र भारत की पहचान है और डिजिटल इंडिया भारत का भविष्य है। डिजिटल इंडिया का सबसे बड़ा मंच है। 
 
उन्होंने कहा कि अभी इस मंच का प्रयोग करने वालों की संख्या 35 लाख के करीब है। इस मंच के माध्यम से स्मार्ट सिटी, आम बजट, नेट निरपेक्षता और नई शिक्षा नीति जैसे विभिन्न मसलों पर लोगों के रचनात्मक सुझाव प्राप्त हुए।
 
प्रसाद ने कहा कि जहां देश में 103 करोड़ मोबाइल उपभोक्ता हैं। मुझे उम्मीद है कि माईगव मंच से करीब 10-15 करोड़ लोग जुड़ने चाहिए। नागरिकों की ओर से आने वाले देश के भविष्य को बेहतर बना सकते हैं। हमारी लोगों से तकनीक का प्रयोग कर नए तरीके से जुड़ने का प्रयास कर रही है। प्रसाद ने कहा कि आने वाले समय में 
माई गव मंच आम आदमी की कई ऐतिहासिक उपलब्धियों को भी संजोएगा। (भाषा)

-->

और भी पढ़ें :