फर्जी खबरों से फेसबुक परेशान, किस तरह करें इसकी पहचान...

नई दिल्ली| Last Updated: शनिवार, 23 सितम्बर 2017 (10:18 IST)
नई दिल्ली। प्रमुख सोशल मीडिया वेबसाइट ने अपने उपयोक्ताओं को फर्जी खबरों के प्रति आगाह करते हुए कहा कि इस समस्या से मिलकर ही निपटा जा सकता है।
कंपनी ने इस बारे में शुक्रवार को कुछ
समाचार पत्रों में विज्ञापन छपवाया है जिसे फर्जी खबरों के खिलाफ उसके अभियान तथा इसको लेकर लोगों को जागरुक बनाने की पहल के रूप में देखा जा रहा है।

फेसबुक ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जबकि सोशल मीडिया विशेषकर फेसबुक व व्हाट्सएप के जरिए फर्जी झूठे समाचार, सूचनाएं फैलाए जाने को लेकर खासी चिंता जताई जा रही है। व्हाट्सएप भी अब फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी है।
इस विज्ञापन में केवल फेसबुक का प्रतीक चिह्न है और इसका संदेश है, हम मिलकर झूठी खबरों को सीमित कर सकते हैं। फेसबुक का कहना है कि वह झूठी खबरों के प्रसार पर लगाम लगाने की दिशा में काम कर रही है। साथ ही वह लोगों को सक्षम बनाना चाहती है कि वे झूठी फर्जी खबरों की पहचान कर सकें।

कंपनी ने उपयोक्ताओं व पाठकों को सलाह दी है कि किसी भी खबर पर भरोसा करने से पहले उसके बारे में जांच पड़ताल कर ली जाएगी। इसमें यह भी बताया गया ​है कि आमतौर किस तरह की खबरें फर्जी या झूठी होती हैं। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :