ट्रंप के आने से प्रभावित होंगी आईटी क्षेत्र में नौकरियां

पुनः संशोधित शुक्रवार, 27 जनवरी 2017 (21:12 IST)
बेंगलुरु। अमेरिका के राष्ट्रपति की नीतियों को लेकर जारी अनिश्चितता, आईटी कंपनियों के पिछली तिमाही के परिणामों तथा निवेश से होने वाली आय का आने वाले दिनों में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र में होने वाली नयी भर्तियों तथा मौजूदा नौकरियों पर असर पड़ सकता है।
टीमलीज सर्विसेज के अध्ययन के अनुसार ऑटोमेशन, निवेश पर होने वाली आय तथा ट्रंप की ताजपोशी आगामी तिमाही में आईटी क्षेत्र में नई नौकरियों पर अपना खासा प्रभाव दिखाएगी।  टीमलीज सर्विसेज की अतिरिक्त महाप्रबंधक अलका ढ़ींगरा ने रिपोर्ट जारी करते हुए कहा है कि इससे तत्काल नौकरियों की संख्या प्रभावित नहीं होंगी, लेकिन नई नौकरियों के संबंध में सावधानीपूर्वक फैसला लिया जाएगा, सावधानी तथा यह मांग आधारित होगा। रिपोर्ट के मुताबिक गत तिमाही में आईटी क्षेत्र में कम भर्तियां हुईं, लेकिन आने वाली दो तिमाहियों में भर्तियों में 12 प्रतिशत की वृद्धि देखी जा सकती है। 
  
इसके अनुसार अगली दो तिमाहियों तक इस क्षेत्र का ध्यान उत्पादकता बढ़ाने पर होना चाहिए और इसके लिए आईटी कंपनियां अपने मौजूदा मानव संसाधन के कौशल विकास पर जोर देंगी जिससे कुशल कर्मचारी कंपनी में बने रह पाएंगे। 
 
ट्रंप ने नौकरियों को आउटसोर्स तथा निर्यात करने के लिए अमेरिका आधारित आईटी कंपनियों की कटु आलोचना करते हुए कहा है कि वे एच1बी वीजा पर कड़ी पाबंदियां लगाएंगे, जिसके जरिये वैश्विक आईटी कंपनियां अपने कर्मचारियों को अमेरिका में काम के लिए भेजती हैं। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :