Widgets Magazine

टि्वटर पर इम्प्रेस नहीं होती लड़कियां

Author डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी|
# माय हैशटैग 
 
क्या टि्वटर पर दिलचस्प और प्रगतिशील संदेशों से लड़कियों को प्रभावित किया जा सकता है? जवाब है नहीं। यह प्रयोग किया एक मशहूर अंग्रेजी मैग्जीन ने। जो नतीजे निकले, वे दिलचस्प हैं। टि्वटर पर आप अपना संदेश दे सकते है, सूचनाएं पहुंचा सकते हैं, अपनी प्रगतिशीलता का प्रचार कर सकते हैं, लेकिन लड़कियों को इम्प्रेस नहीं कर सकते। इसका कारण यह है कि लड़कियां आसानी से प्रभावित नहीं होतीं। अगर आप प्रगतिशील होने का दिखावा करें, तब भी वे आपकी बात भांप जाती हैं। कुल मिलाकर खट्टे अंगूर खट्टे ही बने रहते हैं। 
इसकी एक दिलचस्प शुरुआत हुई पिछले दिनों। एक नौजवान ने टि्वटर पर एक फोटो शेयर किया और कैप्शन दिया 'प्रगतिशील लोग ऐसा भविष्य चाहते हैं।' साथ में जो तस्वीर थी, उसमें एक पब्लिक बस में लड़का और लड़की साथ में बैठे हुए थे, लड़की अपने हाथ में मोबाइल से खेल रही है और वह दोनों पैर फैलाकर पसरी हुई है। मिनी स्कर्ट पहने लड़की ने अपने बालों को लाल रंग रखा है और भड़काऊ कपड़े पहन रखे हैं। पास में बैठा हुआ शख्स बुर्के जैसी पोशाक पहनकर यात्रा कर रहा है। उसकी केवल आंखें और हाथ ही दिख रहे हैं। 
 
करने वाले को लगा होगा कि इस पर अच्छी बहस छिड़ेगी और लोग अपनी दिलचस्प राय देंगे। हो सकता है कि लड़कियां इससे प्रभावित हों और उसके पक्ष में अच्छे कमेंट्स आएं, लेकिन हुआ इसका उल्टा। अधिकांश लोगों ने टिप्पणियां कीं कि यह एक निजी मामला है और कोई क्या पहने, इस पर किसी को क्या आपत्ति हो सकती है। सार्वजनिक स्थानों पर लोग अपनी सुविधा के कपड़े पहनना पसंद करते हैं। फोटो शेयर करने वाले का मजाक भी उड़ाया गया और कहा गया कि लड़की के साथ बैठा लड़का बहुत मेकअप किए हुए है, लड़कों को चाहिए कि थोड़ा कम मेकअप करें, तो बेहतर होगा। 
 
टि्वटर के बहुतेरे यूजर्स ने कहा कि यह ट्वीट दोमुंहेपन का शिकार है। इसका उद्देश्य है लड़कियों का मजाक उड़ाना। इसके जवाब में एक युवक ने लिखा कि सार्वजनिक स्थानों पर जो लड़कियां अपने मोबाइल में घुसे रहने के बजाय किताबों में घुसी रहती हैं, वे ज्यादा सुंदर और आकर्षक लगती हैं। इसके जवाब में दर्जनों ट्वीट हुए, जिनका आशय यह था कि आपको यह कैसे पता कि लड़की मोबाइल पर कोई किताब का अंश नहीं पढ़ रही? मोबाइल में व्यस्त लड़की भी पुस्तक प्रेमी हो सकती है। मजाक में एक लड़की ने ट्वीट किया कि अब मुझे पता चला कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट में किताब लेकर यात्रा क्यों करनी चाहिए? एक लड़की ने लिखा कि मैं किताबें अपने फोन पर आई-बुक्स के माध्यम से पढ़ती हूं, तो क्या मैं ज्यादा सुंदर और आकर्षक हो गई?
 
मजाक-मजाक में कई लोगों ने लिखा कि क्या मोबाइल पर भी किताबें पढ़ी जा सकती हैं? जवाब में एक अन्य ने लिखा कि मैं अपने मोबाइल पर किताब भी पढ़ सकता हूं और ट्वीट भी कर सकता हूं, लेकिन क्या कोई है, जो अपनी किताब से ट्वीट कर सके? एक गंभीर यूजर ने लिखा कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करते समय यह आपकी इच्छा और सुविधा पर है कि आप क्या करें, अच्छी बात यह है कि आप जो हैं, वहीं रहें, किसी को भी इम्‍प्रेस करने की कोशिश न करें। यह सलाह भी दी गई कि इस तरह की बातें टि्वटर पर न लिखें कि किस तरह की लड़की ज्यादा आकर्षक होती है। यह लड़कियों को आपस में लड़वाने की कोशिश है। एक तीखी प्रतिक्रिया यह भी रही कि वे लड़के ज्यादा आकर्षक होते हैं, जो लड़कियों को यह नहीं बताते कि वे आकर्षक लग रही हैं या नहीं। जो लड़कियां किताबें पढ़ती हैं, वे वास्तव में इस बात की कोई चिंता नहीं करतीं कि टि्वटर पर कोई क्या कर रहा है। 
 
इस विवादास्पद ट्वीट पर अनेक हैशटैग से सैकड़ों लोगों ने अपनी राय रखी और अंत में मैग्जीन का निष्कर्ष यह रहा कि महिलाओं को उनके रोजमर्रा के जीवन में इस तरह की सलाह कभी न दें कि वे क्या पहनें और क्या पढ़ें। बस में वे मोबाइल का उपयोग ज्यादा करें या किताबें पढ़ती हुई नजर आएं, यह बताना किसी का भी काम नहीं। पत्रिका ने सलाह दी है कि टि्वटर पर लड़के-लड़कियों को सलाह देना बंद करें और अपने काम पर ध्यान दें। 
 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine