Widgets Magazine

महंगा न पड़ जाए सोशल मीडिया पर शेखी बघारना

Author डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी|
# माय हैशटैग
 
इंदौर की क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को एक युवक को गिरफ्तार किया। उस युवक ने अपने चार साथियों के साथ सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर किया था, जिसमें उसके हाथ में रिवाल्वर था और सामने एक युवक हाथ जोड़े बैठा था, उसी के साथ आजू-बाजू में तीन और युवक खड़े थे, जो उसके गुर्गे की तरह लगते थे। किसी फिल्मी सीन से प्रभावित होकर उसकी नकल में फोटो खिंचवाने का यह जुनून युवक को महंगा पड़ गया। पुलिस ने उसे पकड़ लिया और अवैध हथियार रखने के मामले में कार्रवाई शुरू कर दी। पुलिस की तकनीकी एक्सपर्ट की टीम सोशल मीडिया को लगातार मॉनिटर करती रहती है और अगर कुछ आपत्तिजनक लगे, तो उसकी पड़ताल भी करती है। इंदौर पुलिस की क्राइम ब्रांच को सोशल मीडिया पर यह तस्वीर अस्वाभाविक लगी और यह लगा कि वह युवक अपने आप को डॉन के रूप में प्रचारित करना चाहता है। 
सोशल मीडिया की तस्वीर के आधार पर इंदौर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने तस्वीर की जांच-पड़ताल शुरू की, तो इस बात का पता चला कि यह तस्वीर लालबाग इलाके की है। इंदौर पुलिस मामले की जांच करते-करते इंदौर के इंदिरा नगर निवासी दिव्यराज तक पहुंच गई। यह तस्वीर उसी की थी। उसने बताया कि तस्वीर में जो कट्टा है, वह उसके साथी विकास का है। वह एक दिन लालबाग घूमने के लिए गया था, तो वहां उसके तीन दोस्त और मिल गए। अचानक उनके दिमाग में फिल्मी अंदाज में फोटो शूट करने का आइडिया आया और उन्होंने वह फोटो खींचकर वाट्सएप पर चला दिया। वाट्सएप पर चलने के बाद पुलिस ने जब आरोपियों को पकड़ा, तब पता चला कि तस्वीर में जो रिवाल्वर है, उसका कोई लाइसेंस किसी के पास नहीं था। पुलिस ने डॉन बने दिव्यराज को गिरफ्तार कर लिया और उसके तीनों साथियों को चेतावनी देकर छोड़ दिया। 
 
जैसे-जैसे अपराधियों ने नई तकनीक इजाद की है, वैसे ही पुलिस भी उनके पीछे-पीछे नई तकनीकों का उपयोग करने लगी है। अकेले इंदौर में ही करीब तीन हजार वाट्सएप ग्रुप ऐसे हैं, जो पुलिस की निगरानी में हैं। इन ग्रुप्स की चैटिंग, कमेंट्स, मेम्बर्स और एडमिन की पूरी जानकारी पुलिस के रिकॉर्ड में है। पुलिस का यह मानना है कि अपराधी कितना भी शातिर हो, कभी न कभी तो वो शेखी बघारने के लिए सोशल मीडिया पर अपनी औकात दिखा ही जाता है। कुछ दिनों पहले इंदौर में एक युवती ने तलवार लहराते हुए अपना फोटो खिंचवाया था और सोशल मीडिया पर डाल दिया था। विरोधी गुट के एक युवक ने इसके जवाब में कट्टे के साथ फोटो खिंचवाया और सोशल मीडिया पर जारी कर दिया। युवती के परिजनों द्वारा माफी मांगने पर और युवती द्वारा गलती मान लेने पर पुलिस ने युवती को छोड़ दिया, लेकिन चेतावनी के साथ। जो युवक कट्टे के साथ फोटो खींचा रहा था, उसे पुलिस ने धरदबोचा, वहां भी मामला वही था, बिना लाइसेंस के हथियार रखने का। 
 
कई युवक और युवतियां अपने-अपने प्रेमी-प्रेमिका के साथ कई अंतरंग दृश्य सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं, उनमें से कई को इन फोटो के कारण बाद में परेशानी होती है। शादी करने के लिए जब भी वैवाहिक प्रस्ताव भेजे जाते हैं, तब आमतौर पर युवक-युवती एक-दूसरे का सोशल मीडिया का प्रोफाइल अवश्य देखते हैं और पुराने मित्रों की तस्वीरें कई बार गलत फहमियां पैदा कर देती हैं। हालत यह होती है कि कई बार विवाह के संबंध बनते-बनते बिगड़ जाते हैं। 
 
कई युवतियां पब या बार में शराब पीने जाती हैं। उनके बारे में न तो उनके घरवाले जानते हैं और न ही नजदीकी लोग। मौज-मस्ती के मूड में कई बार ये युवतियां बार के अपने फोटो इस अंदाज में शेयर करती हैं कि हम भी किसी से कम नहीं हैं, हम भी शराब गटक जाते हैं। ऐसे फोटो कई बार घरवालों के सामने मुसीबत बन जाते हैं। अंजाम यहां भी बहुत बुरा होता है। 
 
कई लोग सोशल मीडिया के इतने आदी हैं कि अपनी हर गतिविधि सोशल मीडिया पर शेयर करने लगते हैं। घर से निकले नहीं कि पूरी दुनिया को जता दिया कि आप कहां हैं और कहां जा रहे हैं। हर व्यक्ति को कहीं भी आने-जाने का अधिकार है, लेकिन इसकी जानकारी सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध कराना कई बार मुश्किल में डाल देता है। अगर कोई व्यक्ति आपको नुकसान पहुंचाना चाहे, तो उसका काम वह ज्यादा आसानी से कर सकता है, क्योंकि उसे आपकी लोकेशन पता होती है। अगर आपको अपनी यात्रा की तस्वीरें शेयर करने का बहुत शौक है, तो वह जरूर करें, लेकिन तत्काल अपडेट न करें। जब आप कहीं से घूम फिरकर लौट आएं, उसके बाद ही यह बात उजागर करें कि आप कहां-कहां से घूम-फिरकर आ रहे हैं। कई लोग अपने ऑफिस टाइम में बीच में तड़ी मारकर बाहर चले जाते हैं और वहां से अपनी लोकेशन शेयर कर डालते हैं। ऐसी आदत नौकरी में परेशानी बन सकती है। 
 
फेसबुक के नए सुरक्षा प्रावधानों में यह व्यवस्था है कि फेसबुक खुद आपकी ऐसे तस्वीरों को ब्लॉक कर दें। अगर वहां से आपकी पोस्ट किसी तरह बच जाएं, तब भी यह मत मानिए कि आपने कोई तीर मारा है। किसी भी पोस्ट पर कमेंट करते वक्त भी सावधानी रखें। कोई भी ऐसी बात पोस्ट न करें, जो आपको मुसीबत में डाल दें। सोशल मीडिया पर आपका जीवन गोपनीय नहीं रहता, आपकी हर चीज सार्वजनिक होती है। 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine