रोशनी से क्यों डर रहे हैं जनाब : नाहिद आफरीन के बहाने

हिंसा, भय और असुरक्षा से उपजी पहली प्रतिक्रया है। मनुष्य जब अपने आस पास फैली कलात्मक अभिव्यक्तियों से डरने लगे, तो यह विचार असुरक्षा और भय की पराकाष्ठा है। जब व्यक्ति जैसे दैवीय वरदान से भय खाने लगे तो क्या कहिएगा। मुझे अपने आस पास डरे हुए भयभीत लोगों की भीड़ ही दीखाई देती है, जो किसी न किसी तरह की हिंसा में लिप्त है। ध्यान दीजिए हिंसा केवल शारीरिक ही नहीं होती, इससे कहीं आगे यह मानसिक और अवचेतन के स्तर पर भी होती है।
आप असुरक्षित हैं, क्योंकि आपको लगता है कि आपकी योग्यता में इतना सामर्थ्य नहीं है जो सही तरीके से अपनी जगह बना सके। आप डरे हुए हैं कि बिना शोर मचाए आपकी उपस्तिथि प्रभाव नहीं डाल सकती। आप भयभीत हैं कि बिना जोर से बोले आपकी आवाज सुनी नहीं जाएगी।
 
हां आप भयभीत हैं जो हर छोटी से छोटी बात आपको अपने अस्तित्व पर मंडराते संकट की तरह लगती है और आप निकाल लेते हैं फतवों की तलवारें। कहते हैं जो हर बात पर शोर मचाते हैं उनका शोर बेमानी हो जाता है। अधिक बोलने वालों की बातों को लोग गंभीरता से नहीं लेते। हद है, संगीत... जो कि किसी भी धर्म की सीमाओं से परे है उसके गाने पर को फतवों का डर दिखा आप उसे नहीं डरा रहें हैं, बल्कि अपनी असुरक्षा का प्रदर्शन कर रहें है।
 
शुक्र है आप तब नहीं हुए जब संगीत के घरानों से हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत को अनंत ऊचाईयां देने वालों के नाम के डंके बजा करते थे, शुक्र है आप जैसी मानसिकता ने हिंदी रजत पटल के चमकदार सितारों के खिलाफ फतवे जारी नहीं किए, गायक, संगीतकार, अदाकार हो या अदाकारा लंबी श्रृंखला है जिसे कभी किसी से भय नहीं लगा। 
 
आज क्या कारण है कि आप कभी धाकड़ गर्ल के खि‍लाफ तो कभी नाहिद के खिलाफ फतवे जारी कर देते हैं। फतवे भारत की संस्कृति का हिस्सा नहीं है जनाब ।  मौसिकी तो खुदा की इबादत का नायाब तरीका है। नहीं आप मौसिकी से नहीं डर रहें हैं, आप को हौव्वा का डर है। आदम की छटी पसली से पैदा होने वाली दोयम दर्जे की हौव्वा कैसे इबादत कर सकती है। वह शरीके हयात तो हो सकती है शरीके इबादत नहीं। आप उस तरक्की पसंद अवाम से खौफजदा हैं, जो अब और दहशत और अंधेरे में रहने से इनकार कर रही है। रोशनी से डरने वाले मुल्कों के हालात देखिए, अपने ही अस्तित्व को खत्म करने पर आमादा है।  
 
अपने खुद के डर और असुरक्षा से बाहर निकलिए, सबके साथ चलने का साहस दिखाईए... खुदा के नूर से रोशन अपने जमीर की रोशनी को फैलाइए। रोशनी की तरफ हाथ तो बढ़ाइए, फिर देखिए कैसे सारा हिंदुस्तान आपको अपने साथ खड़ा नजर आएगा। लेकिन शुरुवात आपको ही करनी होगी जनाब।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

इसलिए जरूरी है बच्चों का मुंडन संस्कार, पढ़ें 5 जरूरी बातें

इसलिए जरूरी है बच्चों का मुंडन संस्कार, पढ़ें 5 जरूरी बातें
मुंडन संस्कार के बारे में मान्यता है कि इससे शिशु का मस्तिष्क और बुद्धि दोनों ही पुष्ट ...

दूध नहीं पीते हैं मोटे होने के डर से तो यह 4 स्वादिष्ट ...

दूध नहीं पीते हैं मोटे होने के डर से तो यह 4 स्वादिष्ट विकल्प हैं आपके लिए
अगर आप वजन को बढ़ने से रोकना चाहते हैं और हेल्थ से किसी तरह के समझौते को तैयार नहीं तो ...

हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मानते हैं मोर ...

हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मानते हैं मोर पंखों को शुभ, पढ़ें 10 चौंकाने वाली बातें
मोर, मयूर, पिकॉक कितने खूबसूरत नाम है इस सुंदर से पक्षी के। जितना खूबसूरत यह दिखता है ...

अजी अंडा छोड़िए, इन 5 शाकाहारी चीजों में है भरपूर प्रोटीन

अजी अंडा छोड़िए, इन 5 शाकाहारी चीजों में है भरपूर प्रोटीन
हाल ही में पोलैंड की पशु चिकित्सा सेवा ने करीब 40 लाख अंडों को बाजार से हटा लिया है। ये ...

तुरंत फेंक दे अपना पुराना लूफाह वर्ना संक्रमण का है खतरा

तुरंत फेंक दे अपना पुराना लूफाह वर्ना संक्रमण का है खतरा
नहाते हुए अपने शरीर की वह त्वचा व हिस्सा, जो केवल साबुन से साफ नहीं हो पाता, उसकी सफाई के ...

शादीशुदा लोगों को कम होता है हृदय रोग का खतरा

शादीशुदा लोगों को कम होता है हृदय रोग का खतरा
लंदन। एक अध्ययन में दावा किया गया है कि शादी से लोगों को दिल की बीमारियों और स्ट्रोक से ...

4 टिप्स से जानें आपकी त्‍वचा के लिए कितने एसपीएफ वाला ...

4 टिप्स से जानें आपकी त्‍वचा के लिए कितने एसपीएफ वाला सनस्क्रीन सही होगा?
आमतौर पर आपने दूसरों से सुना होगा कि जितना ज्यादा एसपीएफ वाला सनस्क्रीन लगाएंगे उतना ही ...

हाथों में मेहंदी का रंग गहरा करने के 10 टिप्स

हाथों में मेहंदी का रंग गहरा करने के 10 टिप्स
मेहंदी से रचे हाथ किसे अच्छे नहीं लगते! जिनके हाथों में मेहंदी लगती है वे उसके रंग को ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो यह 6 उपाय आजमाएं
परिश्रम से बड़ा कोई धन नहीं। लेकिन सांसारिक सुखों को हासिल करने के लिए जो धन चाहिए वह अगर ...

धूमावती जयंती 2018 : मनोवांछित फल पाना है तो ऐसे करें पूजन, ...

धूमावती जयंती 2018 : मनोवांछित फल पाना है तो ऐसे करें पूजन, पढ़ें ये विशेष मंत्र...
वर्ष 2018 में 20 जून, बुधवार को धूमावती जयंती है। इस विशेष अवसर पर ब्रह्म मुहूर्त में ...