मुख पृष्ठ > विविध > योग > आलेख > सेक्स एकाग्रता के लिए पद्मासन
सुझाव/प्रतिक्रियामित्र को भेजिएयह पेज प्रिंट करें
 
सेक्स एकाग्रता के लिए पद्मासन
प्यार भरे जीवन को समृद्ध बनाएँ
अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'
क्या सेक्सुअल फिटनेस और योग के बीच कोई संबंध है? क्या वाकई योग से हम इस मामले में अपनी समस्याएँ दूर कर सकते हैं? और क्या हम एक स्वस्थ सेक्स जीवन बिता सकते हैं?

ND
दरअसल योग आपके आध्यात्मिक और सेक्स जीवन के बीच संतुलन बनाने का कार्य कर सकता है। योग का अर्थ ही होता है जोड़ या मिलन। योग आपके शरीर और आत्मा को एकाकार करना चाहता है। शरीर यदि किसी कारणवश असंतुष्ट है तो शांति और प्रगति की संभावना व्यर्थ है। स्वयं तक पहुँचने के लिए शुरुआत शरीर से ही करना होगी।

योग आपमें और आपके सहयोगी में एक-दूसरे के प्रति जागरूकता बढ़ाकर बेहतर अनुभव प्रदान करता है, जिससे आपका और आपके सहयोगी का जीवन स्टाइलिश होने लगता है। भरपूर जीवन शक्ति के लिए योग के अलावा और कोई विकल्प नहीं। तो आइए जानें की पद्मासन आपकी इसमें क्या मदद कर सकता है...।

मन : ध्यान मुद्रा में किया गया पद्मासन एक बेहतर आसन है जो आपके चित्त को एकाग्र करता है। चित्त की एकाग्रता से आप अपने सहयोगी के साथ पूरी सघनता से जुड़ते हैं। इस जुड़ाव से संतुष्टि का अहसास होता है।

ND
शरीर : इस आसन से कूल्हों के जाइंट, माँसमेशियाँ, पेट, मूत्राशय और घुटनों में खिंचाव होता है जिससे इनमें मजबूती आती है और यह सेहतमंद बने रहते हैं। इस मजबूती के कारण उत्तेजना का संचार होता है। उत्तेजना के संचार से आनंद की दीर्घता बढ़ती है।

कैसे करें पद्यासन : पद्मासन
संबंधित जानकारी खोजें
और भी
जालंधर बंध को जानें
थायराइड के रोग और योग
महामानव बनने की ओर...
नाड़ी शोधन प्राणायाम
शून्य और सूर्य मुद्रा
व्यर्थ के स्खलन से बचें