जान-जहान | यूँ रहें स्वस्थ | यौन समस्याएँ | आहार | आयुर्वेद | चिकित्सा पद्धतियाँ | घरेलू नुस्खे | जडी-बूटियाँ | सेहत समाचार
मुख पृष्ठ » विविध » सेहत » घरेलू नुस्खे » निंदिया रानी के घरेलू नुस्खे (gharelu upchar)
Bookmark and Share Feedback Print
 
ND

नींद न आना भी कई बीमारियों की जड़ है, यदि नींद ठीक से आई तो दिनभर फुर्ती बनी रहती है, वर्ना सिर भारी रहना, उबासियाँ आना, जी न लगना व इसी तरह के कई उपसर्ग होते रहते हैं।

रात को नींद ठीक से आए, समय से आए व सोते समय किसी प्रकार का मानसिक तनाव न रहे, इस बात का विशेष प्रयास करना चाहिए।

यदि नींद आने में परेशानी हो, प्रयत्न करने पर भी न आती हो तो कुछ आयुर्वेदिक उपाय यहाँ दिए जा रहे हैं, उनका प्रयोग करें- अश्वगंधा, ब्राह्मी, शंखपुष्पी, शतावरी, मुलहठी, आँवला, जटामासी, असली खुरासानी, अजवायन प्रत्येक का 50-50 ग्राम बारीक चूर्ण बना लें। रात को सोने के पूर्व 3 से 5 ग्राम मात्रा में दूध के साथ सेवन करें। एक सप्ताह बाद इसका प्रभाव देखें।

अनिद्रा नष्ट होकर गहरी स्वाभाविक नींद आने लगती है, स्वप्न भी नहीं आते व उच्च रक्तचाप में भी आराम होता है। नींद की गोली की तरह बेहोशी नहीं आती, बल्कि प्रातः उठते ही ताजगी महसूस होती है।

सर्पगंधा, अश्वगंधा और भाँग तीनों सममात्रा में मिलाकर रख लें। इस चूर्ण को रात को सोते समय 3 से 5 ग्राम मात्रा में जल के साथ लें, यह औषधि निरापद है।
संबंधित जानकारी खोजें