मुख पृष्ठ > विविध > सेहत > घरेलू नुस्खे > जब हो जाए भोजन से अरुचि
सुझाव/प्रतिक्रियामित्र को भेजिएयह पेज प्रिंट करें
 
जब हो जाए भोजन से अरुचि
NDND
भोजन करने की इच्छा न होना, भोजन बेस्वाद लगना, भूख न लगना आदि को अरुचि या अरोचक रोग कहते हैं। इसका कारण है अनियमित ढंग से आहार करना, देर तक जागना, सुबह देर से उठना, अपच व अजीर्ण होना या भोजन का स्वादिष्ट न होना, कुछ भी हो सकता है।

उपचा

* सफेद जीरा भुना हुआ, काला जीरा, मुनक्का, काली मिर्च, अनार दाना, अमचूर, काला नमक, सब 10-10 ग्राम लाकर कूट-पीसकर बारीक चूर्ण कर लें। इसे आधा चम्मच मात्रा में एक चम्मच शहद में मिलाकर चाटने व एक टुकड़ा गुड़ का सुबह-शाम खाने से अरुचि दूर होती है।

* नीबू के चार टुकड़े कर लें, एक टुकड़े में पिसी शकर या सेंधा नमक बुरक लें व इस टुकड़े को जीभ पर बार-बार रगड़ें। ऐसा दिन में चार बार करें।

* जवाखार, सम्हालू के बीज, पिप्पल, भारंगी, वायविडंग, रास्ना, छोटी इलायची के दाने, भुनी हुई हींग, सेंधा नमक और सोंठ सब 10-10 ग्राम लेकर कूटकर बारीक चूर्ण कर लें और सबका चूर्ण मिलाकर शीशी में भर लें। आधा कप चम्मच चूर्ण सुबह-शाम गर्म पानी से फांकें। इस नुस्खे को 8-10 दिन तक सेवन करने से अरुचि दूर होती है, भूख खुलकर लगती है।
संबंधित जानकारी खोजें
और भी
घर में बनाएँ दर्दनाशक तेल
पैरों की बिवाई के घरेलू नुस्खे
थकान उतारें इस तरह ....
दिल की धड़कन तेज होने पर...
मोच आने पर क्या करें
गर्भपात हो तो विशेष ख्याल रखें