यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके बच्चे को बिगड़ने से कोई नहीं रोक सकता!



पैरेंट्स की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जो वे बच्चों को सुधारने, कुछ सिखाने-पढ़ाने और नियंत्रण में रखने के उद्देश्य से करते हैं। लेकिन मनोवैज्ञानिकों का भी मानना है कि कुछ ऐसी बुरी आदतें हैं जिसका आपके बच्चे पर विपरीत प्रभाव पड़ता है और वे अच्छा इंसान बनने के बजाए बुरा इंसान बनने की ओर अग्रसर हो जाते हैं। बच्चे का अच्छा या बुरा इंसान बनना यह पूरी तरह से उनकी परवरिश पर निर्भर करता है और इस बात पर कि बतौर अभिभावक आपने कैसी भूमिका निभाई है?
आइए जानें पैरेंट्स की वे 4 आदतें, जो बच्‍चों को सुधारने के बजाए बिगाड़ने का ही काम करती है।

1. अपने बच्चों की दूसरे बच्चों से तुलना करना

बच्चे हो या बड़े, किसी भी व्यक्ति की किसी दूसरे व्यक्ति से कभी भी तुलना नहीं की जानी चाहिए। यदि आप तुलना करते हैं, तो इसका मतलब है कि आप सामने वाले के ओरिजनल व्यक्तित्व पर ही सवाल उठा रहे हैं। तुलना का मतलब है कि आप उन्हें यह कह रहे हैं कि आप जैसे शख्स हैं, हमें वैसे पसंद नहीं हैं। उन्हें तो किसी और के जैसा होना चाहिए। क्या आपको कोई यह कहेगा, तो यह आपको पसंद आएगा? नहीं न! वैसे तुलना किए जाने पर केवल आप बच्चे या अन्य किसी को उनके स्वयं के बारे में नकारात्मक बना रहे होते हैं। इससे कोई फायदा होने वाला नहीं है। सभी की अलग-अलग खूबियां होती हैं। ऐसे में बेहतर यही है कि उनमें जो खूबी है, आप उसी में खुश रहें और वह अपनी वास्तविक पहचान बनाए रखे।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :