इंदौर में 'गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड' बनने के बाद हास्य की नई लहर


- सीमान्त सुवीर
आज जहां लोगों के दिलो-दिमाग पर मानसिक तनाव ने अपना डेरा जमा लिया है, वहीं दूसरी तरफ शहर में 75 साल से लेकर 85 साल के ऐसे बुजुर्ग भी हैं, जो अलग अलग क्षेत्रों में सुबह-सुबह लाफ्टर क्लब संचालित करके लोगों के रोग तो दूर करने का प्रयास तो कर ही रहे हैं, अलबत्ता उन्हें हंसाकर उनके शारीरिक तंतु्ओं में नई ऊर्जा भी स्फुटित करने के अभियान में जी-जान से जुटे हुए हैं।
Widgets Magazine

सुबह मतलानी गार्डन (पटेल नगर) में इंदौर की अब तक की सबसे बड़ी हास्य रैली 7 मई आयोजित की गई। दरअसल यह रैली एक तरह से 'कार्निवाल' का रूप ग्रहण कर गई, जिसमें बच्चे, वृद्ध महिलाओं और युवक युवतियों ने बड़ी संख्या में शिरकत की। बैंड-बाजे के साथ यह कार्निवाल सम्पन्न हुआ, जिसमें रास्ते भर ठहाके गूंजते रहे। रैली के सदस्य खुद भी हंस रहे थे और दूसरों को हंसाने में कोई कंजूसी नहीं बरत रहे थे।
कार्निवाल का आकर्षण का केंद्र 84 बरस के बैंकुठधाम लाफ्टर क्लब के अध्यक्ष महेंद्र सिंह बेदी, 75 साल के के नियमित सदस्य रामकिशन, उनकी 69 वर्ष की पत्नी पद्‍मा भी थीं। वर्तमान में मनपसंद लाफ्टर क्लब के Guinness World Record Holder के सदस्य तो रैली में थे ही, साथ ही इंदौर में सभी हास्य क्लब के सदस्यों ने भी इसमें अपनी मौजूदगी दर्ज की। यही नहीं, डॉ. गरिमा, जो 20 साल से प्रेक्टिस कर रही हैं, उन्होंने भी पब्लिक को लाफ्टर एक्सरसाइज करवाई।
इंदौर में अब तक का यह 'सबसे बड़ा लाफ्टर मेला' था, जिसमें जनार्दन शर्मा ने एंकर की भूमिका अदा की। यह पूरा आयोजन तथा मनपसंद हास्य क्लब द्वारा शहर की आम जनता के लिए बेहद अनुशासित ढंग से संयोजित हुआ था।
इस कार्निवाल में लोग अपने परिवार व दोस्तों साथ रंग बिरंगे कपड़े व केप्स में शरीक हुए। सनद रहे कि 'मन पसंद हास्य योग क्लब' 'गिनीज का वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर' है और उसके सभी सदस्यों ने कार्यक्रम में सक्रिय भूमिका अदा की ही साथ ही साथ
मतलानी गार्डन, सपना संगीता, भंवरकुआं के आसपास रहने वाले नागरिकों ने भी हास्य दिवस को बेहद कामयाब बनाया। हास्य रैली के पश्चात आम जनता के लिए हँसी का विशेष कार्यक्रम भी आयोजित किया गया और यह बताने की कोशिश की कि आप सिर्फ हास्य के जरिए ही शरीर के कई रोगों को दूर भगा सकते हैं।

कुल मिलाकर यह अब तक का इंदौर की सबसे बड़ी हास्य रैली थी, जिसका उद्येश्य शहर के लोगों को हास्य के माध्यम से जागरूक करना था। यह रैली जहां से भी गुजरी, वहां बड़ी संख्या में लोग इस कार्निवाल का आनंद लेते रहे और खुद को हंसने से रोक नहीं पाए। कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का मानना था कि आज के समय में लोगों के चेहरों से हंसी गायब हो गई है और इस तरह के आयोजन महज एक दिन नहीं, बल्कि अधिक संख्या में होने चाहिए ताकि लोगों को तनाव से कुछ देर के लिए ही सही, राहत और सुकून तो मिले।
उक्त आयोजन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले ने विशेष मुलाकात में बताया कि हम रोजाना सुबह 7 बजे पलासिया क्षेत्र में स्थित 'मनपसंद गार्डन' में लाफ्टर क्लब चलाते हैं और साथ में योग भी करवाते हैं। यह सेवा पूरी तरह नि:शुल्क है। कई लोगों की तो लाफ्टर क्लब में आने से बीमारियां तक दूर हो गई हैं। क्लब की सबसे बड़ी खासियत यही है कि इसमें कई पदाधिकारी नहीं है और इसमें बच्चों सेउम्र दराज लोग शरीक होते हैं।
जबकि दूसरे लाफ्टर क्लबों में ज्यादातर वृद्ध लोग रहते हैं।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।


Widgets Magazine

और भी पढ़ें :