साथी पर तेजाब....यह प्यार कैसे हो सकता है

WD|
प्रीति सोनी   
में असफल होने पर अपनी ही प्रेमिका के चेहरे पर फेंक देना...धर्म नहीं बदलने पर चाकू मारकर घायल कर देना...यह प्रेम का मसला है या फिर किसी विकृत मानसिकता का?जिस प्रेम के किस्से हमारे देश में पूरे सम्मान के साथ सुनाए जाते हैं, जहां प्रेम को त्याग और समर्पण से जोड़कर देखा जाता है, वहीं प्रेम का स्तर इतना कैसे गिर गया कि तुच्छ इच्छाओं की पूर्ति नहीं होने पर अपनी प्रेमिका पर ही हमला करने की जरूरत पड़ गई। आखिरकार वह कौन मानसिकता है जो प्रेम को अपराध बनाने में बदल देती है?  
1.अविश्वास- दो लोगों में आपसी विश्वास की कमी होना प्रेम की सबसे बड़ी कमजोरी है। अगर एक-दूसरे पर विश्वास ही नहीं, तो कभी भी इस रिश्ते में दरार पड़ सकती है और अविश्वास अत्यधिक बढ़ जाता है तो द्वेष जन्म लेता है। यही द्वेष विकृत मानसिकता को जन्म देता है। 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :