ब्रेक-अप के बाद भी पार्टनर की गतिविधियों पर नजर रखते हैं तो...

Last Updated: शनिवार, 26 सितम्बर 2015 (17:34 IST)
उम्र के पड़ाव में युवक व युवती जब किसी के प्यार में पड़ते हैं तो उन्हें यह मालूम होता है कि जैसे उन्होंने जहां भर की खुशियों पा ली हों। लेकिन ब्रेक-अप उससे कही ज्यादा दुखदाई होता है और वे कई दिनों तक इससे उबर ही नहीं पाते।
   
साथ ही इंटरनेट के आने से और भी दुखदाई हो गया है और प्रेमी जोड़े एक दूसरे से अलग होने के बावजूद अवसाद से गिर जाते हैं। एक नए अध्य्यन के मुताबिक जिन लोगों का ब्रेक अप हो जाता है वे अपने एक्स पार्टनर को ऑनलाइन जानते रहने की कोशिश करते हैं और जब भी वे सोशल मीडिया पर जाते हैं तो उसकी प्रोफाइल को खोलते हैं।
 
वे यह जानने की कोशिश करते हैं कि उनके पार्टनर ने कौन सा स्टेटस/फोटो डाला है, किन लोगों ने उसके स्टेटस पर कमेंट किया। साथ ही वे उसकी ऑनलाइन गतिविधियों पर लगातार नजरें बनाए रखते हैं।
 
इसकी वजह से दोनों अपने से उबर नहीं पाते और समस्याएं उत्पन्न होती हैं। सोशल मीडिया के इस इस्तेमाल को पारस्परिक इलेक्ट्रॉनिक निगरानी कहते हैं। इसकी वजह से युवक व युवती बहुत व्यथित रहने लगते हैं।
 
ओहियो विश्वविद्यालय के कुछ शोधकर्ताओं ने हाल ही में किए गए एक अध्य्यन में पाया कि जो लोग ब्रेक अप करने के बाद भी अपने एक्स की सोशल मीडिया के जरिए निगरानी करते हैं वे ज्यादा व्यथित रहते हैं। इस अध्य्यन में 431 प्रतिभागियों ने भाग लिया। जिनका भूतकाल में ब्रेक अप हुआ था और दोनों पार्टनर फेसबुक पर थे।     
 
इसमें बताया गया कि जब युवक या युवती को अपने पार्टनर के ब्रेक-अप के बाद के अनुभवों के बारे में पता चलता है तो उसे बहुत दुख होता है जिसके कारण वह और भी सावधानी से अपने एक्स-पार्टनर की सोशल साइट को विजिट करने लगता है। फलस्वरूप वे और भी निराश होते हैं और अवसाद में धंसते चले जाते हैं।     
 
इसका सबसे अच्छा उपाय यह है कि ब्रेक अप के बाद युवक/युवती को अपने पार्टनर को सोशल साइट में ब्लॉक कर देना चाहिए।  

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :