पुणे लोकसभा क्षेत्र

देश के सबसे विकसित शहरों में शुमार है पुणे। पर्यटन की दृष्टि से भी यह काफी ज्यादा महत्व रखता है। ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक रूप से एक परिपूर्ण शहर है। इसे 'पूरब का ऑक्सफोर्ड' भी कहा जाता है। यहां का फिल्म इंस्‍टीट्यूट प्रसिद्ध है। यह आईटी हब के रूप में भी उभर रहा है। महाराष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा शहर होने के साथ ही इसे राज्य की सांस्कृतिक राजधानी का दर्जा भी प्राप्त है।

जनसंख्‍या : जनगणना 2011 के अनुसार यहां की कुल जनसंख्‍या 32 लाख 2 हजार है। हालांकि एक अनुमान के मुताबिक यहां की जनसंख्‍या 33 लाख से ज्‍यादा है।

अर्थव्यवस्था : यहां कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों की शाखाएं हैं, जो रोजगार के बड़े अवसर पैदा करती हैं। यह शैक्षणिक संस्थानों के लिए भी पहचाना जाता है। यहां अनेक प्रौद्योगिकी और ऑटोमोबाइल उपक्रम हैं। यह देश के एक प्रमुख सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग केंद्र के रूप में विकसित हुआ है।
मतदाताओं की संख्‍या : लोकसभा चुनाव 2014 के अनुसार यहां मतदाताओं की कुल संख्‍या 18 लाख 35 हजार 836 है, जिसमें 9 लाख 49 हजार 567 पुरुष और 8 लाख 86 हजार 269 महिलाएं हैं। हालांकि एक अनुमान के मुताबिक यहां की जनसंख्‍या 19 लाख से ज्‍यादा है।

भौगोलिक स्थिति : यह शहर महाराष्ट्र के पश्चिम भाग, मुला व मूठा नामक 2 नदियों के किनारे बसा हुआ है। यह राज्‍य का प्रमुख शहर होने के कारण यहां यातायात के सभी साधन मौजूद हैं। यह राज्‍य के सभी प्रमुख शहरों और और उसके बाहर के शहरों से जुड़ा हुआ है।
16वीं लोकसभा में स्थिति : भाजपा के अनिल शिरोले यहां सांसद हैं। वे लोकसभा चुनाव 2014 में विजयी हुए हैं। केन्द्र की कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे विट्‍ठल राव गाडगिल एवं सुरेश कलमाडी यहां से सांसद रह चुके हैं।


और भी पढ़ें :