भारत से निकला 8 साल का ये स्केटिंग अजूबा

Last Updated: बुधवार, 10 मई 2017 (11:49 IST)
में पहले ही अपना नाम दर्ज करा चुके एक भारतीय बच्चे ने खुद ही एक बार फिर खुद अपना विश्व रिकॉर्ड तोड़ कर नया कीर्तिमान रच दिया है। वीडियो में देखिए 8 साल के बच्चे का कारनामा।
अपने स्केटबोर्ड पर सवार होकर कई विश्व रिकॉर्ड रच चुके हैं। केवल आठ साल के तिलुक ने पहले ही स्केटिंग में कई मेडल जीते थे। सबसे पहले अगस्त 2016 में उन्होंने सबसे लंबी दूरी तक पटरियों के नीचे करते हुए गिनीज बुक के साथ अपना पहला रिकॉर्ड बनाया था। मई 2017 में अपना ही पुराना रिकॉर्ड तोड़ कर उन्होंने गिनीज बुक में अपना नया रिकॉर्ड दर्ज करवा दिया है। तिलुक ने केवल 30 सेंटीमीटर ऊंची पटरियों के नीचे से गुजरते हुए 145 मीटर की दूरी तय की है।
वीडियो में देखिए तिलुक का हैरान कर देने वाला प्रदर्शन। कैसे वे रोलर पहने दौड़ते हुए आते हैं और स्प्लिट पोजिशन में आकर पटरियों की लंबी कतार को पार कर जाते हैं।
इस रिकॉर्ड के लिए उन्हें पूरे समय अपने पूरे हाथ को जमीन से लगा कर रखना था। जो उन्होंने बखूबी किया। तिलुक ने 2013 से लिम्बो स्केटिंग का अभ्यास शुरु किया। और दिसंबर 2015 में इस तरह स्केटिंग करते हुए 116 मीटर की दूरी तय की। मूल रूप से से आने वाले तिलुक ने अपना दूसरा गिनीज बुक रिकॉर्ड 3 मई 2017 को केवल 56।01 सेकंड में बनाया। पहले उन्होंने 116 मीटर की दूरी तय की थी।
ऐसा प्रदर्शन करने के लिए दूसरी क्लास में पढ़ने वाला तिलुक हर सुबह 4 बजे उठ जाता है और स्कूल जाने से पहले कम से कम दो घंटे अभ्यास करता है। फिर शाम को भी अभ्यास को तीन घंटे देता है। अब तक 40 से भी अधिक मेडल जीतने वाले तिलुक का नाम बीते साल लिम्बा बुक के रिकॉर्ड में भी दर्ज हुआ।
अगस्त 2016 में के ही एक छह साल के बच्चे ओम स्वरूप गौड़ा ने स्केटिंग करते हुए कारों के नीचे से गुजर कर सबसे लंबी 65 मीटर से भी अधिक दूरी तय की।

आरपी/ओएसजे

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

भारत में इंसानी मल को ढोते हजारों लोग

भारत में इंसानी मल को ढोते हजारों लोग
भारत में 21वीं सदी में भी ऐसे लोग मौजूद हैं जो इंसानी मल को उठाने और सिर पर ढोने को मजबूर ...

क्या होगा जब कंप्यूटर का दिमाग पागल हो जाए

क्या होगा जब कंप्यूटर का दिमाग पागल हो जाए
क्या होगा अगर कंप्यूटर और मशीनों को चलाने वाले दिमाग यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पागल हो ...

चंद हज़ार रुपयों से अरबपति बनने वाली केंड्रा की कहानी

चंद हज़ार रुपयों से अरबपति बनने वाली केंड्रा की कहानी
गर्भ के आख़िरी दिनों में केंड्रा स्कॉट को आराम के लिए कहा गया था। उसी वक़्त उन्हें इस ...

सिंगापुर डायरी: ट्रंप-किम की मुलाकात की जगह बसता है 'मिनी ...

सिंगापुर डायरी: ट्रंप-किम की मुलाकात की जगह बसता है 'मिनी इंडिया'
सिंगापुर का "लिटिल इंडिया" दो किलोमीटर के इलाक़े में बसा एक मिनी भारत है। ये विदेश में ...

जर्मन बच्चे कितने पढ़ाकू, कितने बिंदास

जर्मन बच्चे कितने पढ़ाकू, कितने बिंदास
जर्मनी में एक साल के भीतर कितने बच्चे होते हैं, या बच्चों को कितनी पॉकेट मनी मिलती है, या ...

विश्व कप में जीत से इंग्लैंड में 1.83 करोड़ लोगों ने ...

विश्व कप में जीत से इंग्लैंड में 1.83 करोड़ लोगों ने टेलीविजन देखने का नया रिकॉर्ड बनाया
लंदन। इंग्लैंड की टीम को भले ही फुटबॉल विश्व कप के मजबूत दावेदारों में नहीं गिना जा रहा ...

सद्‍गुरु जग्गी वासुदेव योग दिवस पर सिया‍चीन में सैनिकों को ...

सद्‍गुरु जग्गी वासुदेव योग दिवस पर सिया‍चीन में सैनिकों को सीखाएंगे योग
जम्मू। पृथ्वी की सबसे उच्ची चोटी सियाचिन ग्लेशियर पर तैनात सेना के कर्मियों का योग दिवस ...

FIFA WC 2018 : जापान ने कोलंबिया को 2-1 से हराकर तहलका ...

FIFA WC 2018 : जापान ने कोलंबिया को 2-1 से हराकर तहलका मचाया, रचा इतिहास
सारांस्क। विश्व रैंकिंग में 61वें नंबर की टीम जापान ने एशियाई झंडा बुलंद रखते हुए 16वीं ...