यह ट्रेन कर चुकी है एक लाख से ज्यादा ऑपरेशन

Last Updated: बुधवार, 9 मई 2018 (12:32 IST)
सांकेतिक चित्र सफर के लिए का इस्तेमाल तो आपने बहुत बार किया होगा। लेकिन क्या ट्रेन में अपना कराया है। देश में चलने वाली इस में मरीजों का न सिर्फ प्राथमिक इलाज होता है बल्कि यह ट्रेन भी करती है।
लाइफलाइन एक्सप्रेस
लाइफलाइन एक्सप्रेस भारतीय रेलवे में साल 1991 में शामिल हुई थीं। मकसद था दूर-दराज के इलाकों में मोतियाबिंद, पोलियो, जैसे रोगों के मरीजों की सर्जरी और इलाज में मदद करना। साल 2016 से इसकी सेवाओं में विस्तार में हुआ। अब इस ट्रेन में स्तन और गर्भाशय के कैंसरों की सर्जरी भी होने लगी है।

दस लाख से अधिक मरीज
लाइफलाइन एक्सप्रेस पिछले तीन दशकों से दूर-दराज के इलाकों में मुफ्त चिकित्सा सेवाएं दे रही है। अब तक यह ट्रेन दस लाख से अधिक लोगों की मदद कर चुकी है। अपने इस सफर में यह ट्रेन एक जिले में करीब महीने भर तक रुकती है। कोशिश है सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को बेहतर करना।
डॉक्टर और स्टाफ
इस ट्रेन अस्पताल में दो ऑपरेशन थियेटर और 20 लोगों का स्टाफ है। अधिकतर डॉक्टर यहां मुफ्त में काम करते हैं। इसमें काम करने वाली महक सिक्का कहती हैं कि उन्होंने हेल्थ सेंटर्स की खराब हालत को देखने के बाद इस ट्रेन अस्पताल को ज्वाइन किया।

जागरुक बनाना है उद्देश्य
महक कहती हैं कि ग्रामीण इलाकों में महिलाओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं नहीं है। यहां तक कि महिलाओं कि किसी स्त्रीरोग विशेषज्ञ तक पहुंच ही नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश न सिर्फ का इलाज करना है बल्कि स्थानीय डॉक्टरों और लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में जागरुक बनाना भी है।
स्थानीय डॉक्टर की भूमिका
ट्रेन में ऑपरेशन थियेटर की साफ-सफाई का भी खासा ध्यान रखा जाता है। जब इस ट्रेन के ऑपरेशन थियेटर में कोई ऑपरेशन हो रहा होता है तो एक स्थानीय डॉक्टर को भी अपने साथ रख जाता है। ताकि मरीज को आगे के इलाज में समस्या न आए।

लोगों को भरोसा
ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी स्वास्थ्य केंद्र ही सबसे अहम हैं। लेकिन देश की एक बड़ी आबादी स्वास्थ्य क्षेत्र में बुनियादी ढांचे और डॉक्टरों की कमी से जूझ रही है। ट्रेन के कर्मचारी बताते हैं कि पहले लोग ट्रेन में होने वाले ऑपरेशन को लेकर काफी चिंतित होते थे। लेकिन सब सुविधाओं को देखने के बाद अब उनका विश्वास बढ़ा है।
ट्रेन में 1.30 लाख ऑपरेशन
ट्रेन अस्पताल के डिप्टी प्रोजेक्ट डायरेक्टर अनिल दारसे के मुताबिक लॉन्च के बाद से ट्रेन में करीब 1.30 लाख ऑपरेशन हो चुके हैं। और यह देश के करीब 191 जगहों को पार कर चुकी है।

ये चलाते हैं
इस लाइफलाइन एक्सप्रेस को एक गैर सरकारी संस्था इम्पैक्ट इंडिया फाउंडेशन, सरकार के साथ मिलकर चला रही है। इस पहल को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) समेत संयुक्त राष्ट्र की बाल कल्याण संस्था यूनिसेफ का भी सहयोग मिल रहा है। अब दूसरी लाइफलाइन एक्सप्रेस चलाने की भी तैयारी की जा रही है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

मुंगेर के निसार हैं 'लावारिस शवों के मसीहा'

मुंगेर के निसार हैं 'लावारिस शवों के मसीहा'
जहां धर्म और मजहब के नाम पर हिंदू और मुसलमानों के बीच तनाव की खबरें सुर्खियों में आती ...

शवों के साथ एकांत का शौक रखने वाला यह तानाशाह

शवों के साथ एकांत का शौक रखने वाला यह तानाशाह
चार अगस्त, 1972, को बीबीसी के दिन के बुलेटिन में अचानक समाचार सुनाई दिया कि युगांडा के ...

तो क्या खुल गया स्टोनहेंज का राज?

तो क्या खुल गया स्टोनहेंज का राज?
शायद आपने फिल्मी गानों में इन रहस्यमयी पत्थरों को देखा हो। इंग्लैंड में प्राचीन पत्थरों ...

कैंसर ने इरफान खान को बदल डाला

कैंसर ने इरफान खान को बदल डाला
अपने एक्टिंग से बॉलीवुड और हॉलीवुड को हिलाने वाले इरफान खान ने कैंसर की खबर के बाद पहला ...

दिल्ली का जीबी रोड: जिस सड़क का अंत नहीं

दिल्ली का जीबी रोड: जिस सड़क का अंत नहीं
दिल्ली की एक सड़क है, जिसका नाम सुनते ही लोगों की भौंहें तन जाती हैं और वे दबी जुबान में ...

अटारी-वाघा बॉर्डर पर भी मना आजादी का जश्न : बीएसएफ ने पाक ...

अटारी-वाघा बॉर्डर पर भी मना आजादी का जश्न : बीएसएफ ने पाक रेंजर्स को मिठाई दी
अटारी। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने आज अटारी-वाघा सीमा पर ...

लोकसभा और चार राज्यों के विधानसभा चुनाव दिसंबर में करवाने ...

लोकसभा और चार राज्यों के विधानसभा चुनाव दिसंबर में करवाने में सक्षम है चुनाव आयोग : ओपी रावत
नई दिल्ली। मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) ओपी रावत ने बुधवार को कहा कि यदि लोकसभा चुनाव समय ...

आनंदीबेन ने संभाला छत्तीसगढ़ राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार

आनंदीबेन ने संभाला छत्तीसगढ़ राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार
नई दिल्ली। मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ...