स्काटलैंड के खिलाफ हार को भुलाकर ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगा इंग्लैंड

पुनः संशोधित मंगलवार, 12 जून 2018 (12:08 IST)
लंदन। स्काटलैंड के खिलाफ हार के सदमे से उबर रही दुनिया की नंबर एक टीम इंग्लैंड पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला के पहले वनडे में बुधवार को यहां ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगी। आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष वनडे टीम बनने के बाद पहले ही मैच में इंग्लैंड को एडिनबर्ग में स्काटलैंड के खिलाफ छह रन से हार झेलनी पड़ी।

जानी बेयरस्टा इस मैच में इंग्लैंड की ओर से लगातार तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय पारियों में शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज बने, लेकिन इसके बावजूद टीम 372 रन के लक्ष्य को हासिल करने में नाकाम रही। स्काटलैंड की जीत के सूत्रधार कैलम मैकलियोड रहे, जिन्होंने नाबाद 140 रन बनाए। इस हार ने इंग्लैंड की क्षमता पर सवाल उठाए हैं, जो कभी विश्व कप नहीं जीत पाया है।

बेयरस्टा ने हालांकि कहा है कि इयोन मोर्गन की टीम शीर्ष रैंकिंग से जुड़े किसी भी दबाव से निपटने में सक्षम है। इंग्लैंड को हालांकि जल्द से जल्द इस हार की निराशा को पीछा छोड़ना होगा, क्योंकि उसे कल ऑस्ट्रेलिया से भिड़ना है।
यह मुकाबला विश्व कप 2019 के मेजबान इंग्लैंड और खिताब के दावेदार ऑस्ट्रेलिया के बीच होगा। इंग्लैंड ने इस साल ऑस्ट्रेलिया में मेजबान टीम को पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में 4-1 से हराया था और वह नए खिलाड़ियों के साथ आई मेहमान टीम पर एक बार फिर दबदबा बनाने की कोशिश करेंगे। ऑस्ट्रेलिया की टीम पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और पूर्व उप कप्तान डेविड वॉर्नर के बिना आई है।

दुनिया के शीर्ष एकदिवसीय बल्लेबाजों में शामिल स्मिथ और वॉर्नर को मार्च में केपटाउन टेस्ट के दौरान गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के कारण प्रतिबंधित किया गया है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया की टीम में चोट के कारण मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस और जोश हेजलवुड भी नहीं हैं जिन्होंने टीम को एशेज जिताने में अहम भूमिका निभाई थी।

ऑस्ट्रेलिया की उम्मीदें अभ्यास मैच में शतक जड़ने वाले मार्कस स्टोइनिस और ट्रेविस हेड पर टिकी हैं, जबकि विकेटकीपर टिम पेन की अगुआई वाली टीम के तेज गेंदबाजी आक्रमण में केन रिचर्डसन, झाय रिचर्डसन, बिली स्टेनलेक और माइकल नेसर को जगह मिली है। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :