एडिलेड टेस्ट : पुजारा ने जुझारू पारी खेलकर बचाई टीम की लाज, भारत ने पहले दिन 9 विकेट खोकर बनाए 250 रन

पुनः संशोधित गुरुवार, 6 दिसंबर 2018 (15:01 IST)
एडिलेड। चेतेश्वर पुजारा (123) रन की जुझारू शतकीय पारी की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम ने खराब शुरुआत के बाद यहां एडिलेड ओवल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार को स्टम्प्स तक 9 विकेट गंवाकर 250 रन बना लिए।
ऑस्ट्रेलिया में इतिहास रचने की प्रबल दावेदार मानी जा रही दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम का पहले टेस्ट के पहले ही दिन प्रदर्शन निराशाजनक रहा। मात्र 86 रन पर आधी टीम गंवाने के बाद भरोसेमंद बल्लेबाज़ पुजारा की शतकीय पारी से भारत ने पहली पारी में दिन का खेल समाप्त होने तक 87.5 ओवर में 9 विकेट पर 250 रन बनाए। मेहमान टीम के एकमात्र बल्लेबाज़ मोहम्मद शमी फिलहाल 6 रन बनाकर नाबाद हैं।

मेजबान टीम ने घरेलू मैदान पर बेहतरीन गेंदबाजी की और लगातार अंतराल पर भारतीय टीम के विकेट उखाड़े। मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस की तेज़ गेंदबाजी तिकड़ी ने अपेक्षा के अनुरूप खेल दिखाते हुए दो-दो विकेट निकाले जबकि ऑफ स्पिनर नाथन लियोन को भी दो विकेट मिले।
एक छोर पर टिककर रनों के लिए संघर्ष कर रहे पुजारा ने लगभग पूरे दिन बल्लेबाजी की और 246 गेंदों में 7 चौके और 2 छक्के लगाकर 123 रन की शतकीय पारी खेली। कमिंस ने उन्हें रनआउट कर नौवें और दिन के आखिरी बल्लेबाज़ के रूप में रनआउट कराया। पुजारा ने अपने 16वें टेस्ट शतक की बदौलत भारत को कुछ सम्मानजनक स्थिति में पहुंचाया।

पुजारा ने टीम के आठ बल्लेबाज़ों के साथ उपयोगी साझेदारियां कीं। उन्होंने रविचंद्रन अश्विन (25) के साथ सातवें विकेट के लिए पारी में 62 रन की एकमात्र अर्द्धशतकीय साझेदारी की। ओपनिंग क्रम के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद निचले क्रम के खिलाड़ियों ने बोर्ड पर रन जोड़े। रोहित शर्मा ने 37 रन और रिषभ पंत ने 25 रन बनाए।
ऑलराउंडर अश्विन ने अपनी 76 गेंदों की पारी में एक चौका लगाया। वे पुजारा के बाद देर तक टिकने का जज्बा दिखाने वाले दूसरे बल्लेबाज़ रहे। पहले दिन भारत की पारी में दूसरा बड़ा स्कोर रोहित शर्मा का रहा जिन्होंने 37 रन बनाए। हालांकि रोहित ने काफी आसानी से अपना विकेट गंवाया और बड़ी पारी नहीं खेल सके।

इससे पहले एडिलेड ओवल में भारतीय कप्तान विराट कोहली का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला शुरूआत से ही गलत साबित हुआ और मेहमान टीम ने चायकाल तक 143 रन जोड़कर अपने 6 अहम विकेट गंवा दिए जबकि लंच तक उसका स्कोर मात्र 56 रन पर चार विकेट था।
ओपनर लोकेश राहुल तथा मुरली विजय की ओपनिंग जोड़ी सस्ते में पवेलियन लौट गई जिससे टीम अच्छी शुरूआत हासिल नहीं कर सकी। ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ जोश हेजलवुड ने राहुल को आरोन फिंच के हाथों
कैच कराया जो मात्र दो रन बना पाए जबकि टेस्ट विशेषज्ञ बल्लेबाज़ मुरली 22 गेंदों में 11 रन बनाकर मिशेल स्टार्क का शिकार बन गए।

भारतीय ओपनिंग जोड़ी के सस्ते में पवेलियन लौटने के बाद नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज़ विराट भी निराश कर गए। वे पैट कमिंस की गेंद पर आउट हुए जब गली में उस्मान ख्वाजा ने बाईं ओर डाइव करते हुए गेंद को लपक ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे अहम विकेट निकाला। विराट 16 गेंदों में 3 रन ही बना सके।
भारतीय पारी में विकेट लगातार गिरते रहे और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे 13 रन पर हेजलवुड की गेंद पर पीटर हैंड्सकोंब को कैच दे बैठे। रोहित शर्मा ने हालांकि पुजारा के साथ मिलकर कुछ जुझारू पारी खेली। लगभग 12 महीने बाद टेस्ट टीम में वापसी कर रहे रोहित ने 61 गेंदों में 2 चौके और 3 छक्के लगाकर 37 रन बनाए।

कमिंस की गेंद पर कवर पर रोहित का छक्का बेहतरीन रहा, लेकिन वे इस पारी को देर तक जारी नहीं रख सके और ऑफ स्पिनर नाथन लियोन की गेंद पर रेयान हैरिस को आसान कैच देकर पवेलियन लौट गए। रोहित और पुजारा ने पांचवें विकेट के लिए 45 रन जोड़े।
भारत ने अपना छठा विकेट रिषभ पंत के रूप में गंवाया जिन्होंने 25 रन बनाए और छठे विकेट के लिए पुजारा के साथ 41 रन जोड़े। पंत ने 38 गेंदों की पारी में दो चौके और एक छक्का लगाया।

अश्विन ने पुजारा के बाद मैदान पर सर्वाधिक गेंदें खेलीं लेकिन वे कमिंस की गेंद पर हैंड्सकोंब को कैच देकर सातवें बल्लेबाज़ के रूप में आउट हुए। इस साझेदारी के टूटने के बाद ईशांत शर्मा मैदान पर आए लेकिन वे 20 गेंदों में एक चौके की मदद से मात्र 4 रन ही बना सके।
स्टार्क ने ईशांत को बोल्ड कर 83वें ओवर में भारत का आठवां विकेट निकाल दिया। इसके बाद पुजारा का धैर्य भी जवाब दे गया और वे नौवें बल्लेबाज़ के रूप में दिन के आखिरी बल्लेबाज के रूप में 123 रन की जुझारू पारी खेलकर आउट हो गए। पुजारा को कमिंस ने रनआउट किया। शमी नौ गेंदों में एक चौका लगाकर 6 रन पर नाबाद हैं।


और भी पढ़ें :