बधाई टीम इंडिया...बधाई इंदौरियंस...

Last Updated: शनिवार, 23 दिसंबर 2017 (12:48 IST)
- सीमान्त सुवीर

इंदौर। भारत और श्रीलंका के सीरीज के दूसरे टी20 मैच की शानदार कामयाबी के साथ ही में 'क्रिकेट का कॉर्निवाल' शुक्रवार को सम्पन हो गया। टीम इंडिया बधाई की पात्र इसलिए है क्योंकि उसके सूरमा कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा के साथ ही लोकेश राहुल ने देश के तमाम क्रिकेटप्रेमियों को एक और जीत का जश्न मनाने का मौका दे दिया।

विराट को टीम इंडिया का रिटर्न गिफ्ट : यही नहीं, पूरी टीम इंडिया ने अपने कप्तान विराट कोहली को 21 जनवरी को दिल्ली में हुए शादी के रिसेप्शन पर भी उन्हें रिटर्न गिफ्ट के रूप में 'जीत का तोहफा' दे दिया, वो भी टी20 में भारत के सबसे बड़े स्कोर के साथ। विराट भले ही अनुष्का के साथ दिल से शादी के रंग में डूबे होंगे, लेकिन दिमाग कहीं न कहीं क्रिकेट पर भी लगा होगा...कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा को जिम्मेदारी सौंपी थी, वे उसे बखूबी निभा भी रहे हैं।

'शेर और मेमने' की लड़ाई : इंदौर के पर एक और कामयाब मैच के साथ शुक्रवार की देर रात तक इंदौरियंस क्रिकेट के खुमार में डूबे रहे...हजारों दर्शकों के लिए यह मायने नहीं रखता था कि इस टी20 मैच में 'शेर और मेमने' की लड़ाई थी। मायने यह रखता था कि यहां पर रोहित के साथ लोकेश राहुल ने जो रनों की फसल काटी, उसके वे गवाह बने। दोनों ही जांबाज बल्लेबाजों ने उम्दा स्ट्रोक खेले और कलात्मक बल्लेबाजी से दर्शकों को रोमांचित किया। भारतीय पारी में 21 चौके और 21 छक्के लगने की बात सोचकर ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं...

धोनी और रोहित की गूंज : विराट कोहली की गैर मौजूदगी में महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा दर्शकों की पहली पसंद बने हुए थे और स्टेडियम में लगातार इनके नाम के नारों की गूंज इस बात का सबूत थी कि यहां के क्रिकेटप्रेमी उन्हें दिल से कितना चाहते हैं। इन दोनों ने भी निराश नहीं किया। जहां एक ओर रोहित ने 35 गेंदों पर जमाया वहीं दूसरी ओर धोनी ने ऊपरी क्रम में आकर आकर्षक स्ट्रोक खेले।

रोहित ने जब इशारे धोनी को भेजने को कहा : भारत की सलामी जोड़ी रोहित और लोकेश राहुल 12.4 ओवर तक मैदान पर डटी रहे और इन दोनों ने 162 रन जोड़े। पहले विकेट के रूप में जब रोहित शर्मा (43 गेंद में 118 रन, 12 चौके, 10 छक्के) आउट होकर ड्रेसिंग रूम की तरफ आ रहे थे, तब चीफ कोच रवि शास्त्री ने उनसे आंखों ही आंखों में पूछा कि बल्लेबाजी के लिए किसे भेजें, तब रोहित ने दोनों हाथों में ग्लब्स पहनने वाले बल्लेबाज का इशारा किया यानी धोनी को मैदान में भेजना है, जबकि श्रेयस अय्यर पैड बांधे खड़े थे। इसे आप रोहित का चतुर दिमाग ही कहेंगे कि उन्होंने मौके की नजाकत को समझते हुए धोनी का क्रम बदला।

धोनी मैदान में हों तो दूसरे छोर पर बल्लेबाजी करने वाले का हौसला भी हिमालय को छूता है। धोनी ने लोकेश राहूल को साथ लेकर दूसरे विकेट की भागीदारी में 81 रन जोड़ डाले। राहुल जब 243 के स्कोर पर आउट हुए तब तक पारी के 18.3 ओवर फेंके जा चुके थे।

बाद में भारत ने स्कोर 5 विकेट पर 260 रन पर पहुंचाकर एक तरह से मनोवैज्ञानिक जीत हासिल कर ली थी। जवाब में श्रीलंका की टीम 17.2 ओवर में 9 विकेट पर 172 रन ही बना सकी। चोटिल मैथ्यूज मैदान में नहीं उतरे और भारत यह मैच और सीरीज 88 रन से जीतने में सफल रहा।

दोपहर बाद से ही चढ गया था क्रिकेट का जुनून : शुक्रवार को 7 बजे होने वाले इस मैच को देखने के लिए शाम से 4 बजे से लाइन में लगे दर्शकों ने रोमांचक क्रिकेट की दावत का भरपूर लुत्फ उठाया। मैच को लेकर दर्शकों का जुनून दोपहर से ही हावी था। यूं तो होलकर स्टेडियम के बाहर सुबह 8 बजे से ही टीशर्ट और अन्य सामान बेचने वालों की दुकानें खुल गई थीं, लेकिन 2 बजे बाद से स्टेडियम आने वाली सड़कों पर चक्काजाम होना शुरू हो गया था।

क्रिकेट दीवानों का सैलाब : जंजीरा चौराहा से हुकुमचंद टावर की तरफ जाने वाली सड़क पर 3.30 बजे से ही वाहनों के रैले के कारण जाम की स्थिति बन गई थी और शाम 6 बजे तो चौराहे से वाहन तो क्या पैदल निकलना भी दूभर था। जहां तक नजर डालो, वहां तक क्रिकेट दीवानों का सैलाब ही नजर आ रहा था।

भीड़ तो इंडस्ट्री हाउस से शुरु हो गई थी और छप्पन दुकान पर भी सामान्य से ज्यादा फुरसती चटोरे मौजूद थे। शाम 4 बजे से प्रवेश द्वार खोल दिए गए थे और गैलरी के लिए लंबी-लंबी लाइनें थीं, जबकि पैवेलियन के लिए बहुत कम लाइनें लगीं।

इंदौरिंस के लिए क्रिकेट कॉर्निवाल : इस मैच को इंदौरियंस एक क्रिकेट कॉर्निवाल के रूप में ले रहे थे। कर्नल सीके नायडू पैवेलियन का यह हाल था कि यहां पर जो भी पहुंचता सबसे पहले अपने मोबाइल फोन से मैदान के नजारे के अलावा सेल्फी लेता। यहीं नहीं कईं तो दूसरों से आग्रह करते ‍कि हमारा फोटो खींच दो...इस पैवेलियन में अधिकांश वो लोग थे, जिनकी क्रिकेट में कम और फोटो खिंचवाने में ज्यादा दिलचस्पी थी ताकि वे बाद में सबको बता सकें कि उन्होंने स्टेडियम में जाकर मैच देखा है।

जुगाड़ से फ्री में नहीं देखने को मिला मैच : दो जगह बारकोडिंग की चेकिंग के बाद चार स्थानों पर टिकट चेक करने की सख्त प्रक्रिया से उन लोगों को निराशा ही हाथ लगी जो जुगाड़ से फ्री में मैच का आनंद लेना चाहते थे। स्टेडियम के भीतर पुलिस के करीब ढाई हजार जवान तैनात थे। पुलिसकर्मियों ने भी मैच में सेल्फी लेने में कोई कंजूसी नहीं की।

सितारे रोहित ने जमीं पर बिखेरी चमक : बहरहाल, टीम इंडिया की जीत के जश्न के साथ यह टी20 मैच सम्पन हो गया और कई यादें छोड़ गया। वो लम्हा हमेशा याद रहेगा, जब रोहित शर्मा ने 35 गेंदों पर शतक जमाया, तब पूरे स्टेडियम ने खड़े होकर न केवल उन्हें बधाई दी, बल्कि मोबाइल टॉर्च जलाकर अपनी खुशी का इजहार भी किया। इस क्षण ऐसा लग रहा था मानों सितारों की रोशनी में एक बड़ा सितारा जमीं पर गिरा और गिरने के बाद भी पूरी जमीं पर अपनी चमक बिखेर रहा है...

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :