एडिलेड में खेले जाने वाले टेस्ट मैच को लेकर इस भारतीय खिलाड़ी ने दिया बड़ा बयान

पुनः संशोधित मंगलवार, 4 दिसंबर 2018 (16:36 IST)
एडिलेड। भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्या रहाणे ने मंगलवार को कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने पर खेल रही है और वह मेहमान टीम की तुलना में जीत के लिए अधिक दावेदार मानी है इसलिए भारत उसे हल्के में नहीं लेगा।

रहाणे ने यहां एडिलेड ओवल में कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने घरेलू मैदान पर खेल रही है और उसके पास अच्छे खिलाड़ी है। उन्होंने कहा, मैं मानता हूं कि जो भी टीम अपने घरेलू मैदान पर खेलती है जीत की ज्यादा हकदार समझी जाती है और हम ऑस्ट्रेलिया को हल्के में नहीं लेंगे क्योंकि उसके पास बेहतरीन बल्लेबाजी और गेंदबाजी लाइनअप है।

उन्होंने टीम के अनुभवी बल्लेबाजों स्टीवन स्मिथ और डेविड वॉर्नर की अनुपस्थिति को लेकर कहा, निश्चित ही ऑस्ट्रेलिया को इन बल्लेबाजों की कमी महसूस होगी लेकिन उसके पास इनके अलावा भी कई बढ़िया खिलाड़ी मौजूद हैं, जो उसके लिए बड़ा फर्क पैदा कर सकते हैं। हम उन्हें हल्के में नहीं ले सकते हैं और अपनी तरफ से पूरी टक्कर देंगे।

भारत दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम की हैसियत से ऑस्ट्रेलिया पहुंची है जबकि उसके कप्तान विराट टेस्ट में नंबर एक बल्लेबाज हैं। हालांकि भारत 70 वर्षो में एक बार भी ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज नहीं जीत सका है। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के तीन मुख्य बल्लेबाजों स्मिथ, वॉर्नर और कैमरन बेनक्रॉफ्ट की अनुपस्थिति और कुछ खिलाड़ियों की चोटों के कारण उसे इस बार कमजोर माना जा रहा है।
भारतीय उपकप्तान ने हालांकि माना कि कागज पर ऑस्ट्रेलिया भले ही कमजोर लग रही हो और भारत मजबूत लेकिन मैदान पर टीमें अलग तरह से खेलती हैं और उसी से हार जीत का फैसला होगा। इसलिए ऑस्ट्रेलिया को कमजोर आंकने की गलती भारत नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि
ऑस्ट्रेलिया का गेंदबाजी आक्रमण कमाल का है और टेस्ट मैच जीतने के लिए आपको अच्छा गेंदबाजी क्रम चाहिए होता है।

मेहमान टीम की बल्लेबाजी को लेकर रहाणे ने कहा कि भारत के पास कई अच्छे रन स्कोरर हैं और निचले क्रम में कई विशेषज्ञ गेंदबाज भी अच्छा स्कोर करने में सक्षम हैं। विराट ऑस्ट्रेलिया में अपने 1000 टेस्ट रन पूरे करने से केवल आठ रन दूर हैं जबकि 2014-15 के पिछले दौरे में रहाणे ने भी 399 रन बनाए थे और प्रभावित किया था।

रहाणे ने कहा, हम सभी एक टीम की तरह खेलते हैं। यह एक टीम का खेल है लेकिन हर खिलाड़ी जानता है कि उसे व्यक्तिगत रूप से कैसा प्रदर्शन करना है। हमें सभी को रन बनाने होंगे और मैच में बड़ी साझेदारियां करनी होंगी क्योंकि ऑस्ट्रेलिया में यही काम आता है। आखिरी सीरीज में भी मैंने और विराट ने एक साथ बड़ी साझेदारी की थी। (वार्ता)


और भी पढ़ें :