Widgets Magazine

भारत में 70 लाख नौकरियां चली जाएंगी!

Last Updated: सोमवार, 17 अक्टूबर 2016 (19:44 IST)
नई दिल्ली। में पिछले चार साल से प्रतिदिन 550 नौकरियां जा रही हैं और अगर यह सिलसिल नहीं  थमा तो साल 2050 तक भारत से 70 लाख नौकरियां चली जाएंगी। हाल ही में हुए एक शोध  में यह आशंका जताई गई कि आने वाले वर्षों में यदि भारत में नौकरी के नए स्रोत नहीं आए और इसी तरह लोगों की नौकरियां जाती रहीं तो साल 2050 तक लगभग 70 लाख लोग अपनी नौकरियों से हाथ धो बैठेंगे।  
 

दिल्ली के सिविल सोसायटी समूह प्रहार के अध्ययन में कहा गया है कि देश में आज किसान, छोटे रिटेलर्स, ठेका श्रमिक तथा निर्माण श्रमिक अपनी आजीविका पर ऐसे खतरे का सामना कर रहे हैं जो उन्हें पहले देखने को नहीं मिला है। 

साल 2016 की शुरुआत में श्रम ब्योरो द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार भारत में साल  2015 में एक लाख 35 हज़ार नौक‍रियों का सृजन हुआ, जबकि साल 2013 में भारत में चार  लाख 19 हज़ार नौकरियां उत्पन्न हुई। समूह ने दावा किया कि साल 2011 में यही आंकड़ा 9 लाख का था। 
 
समूह की ओर से जार एक बयान में कहा गया कि इस गिरावट का बड़ा कारण यह रहा कि नौकरी देने में सबसे अधिक योगदान देने वाले सेक्टरों को लगातार नुकसान हुआ। भारत में  कृषि ने 50 प्रतिशत नौकरियों के सृजन में योगदान दिया, जबकि छोटे मझोले उद्योगों ने 40  प्रतिशत नौकरियां उत्पन्न की। 
 
विश्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार भारत में कृषि आधारित नौकरियों में लगातार गिरावट आई है। 1994 में यह 60 प्रतिशत थी, लेकिन 2013 तक यह 50 प्रतिशत तक रह गई। 

 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine