मूडीज का यस बैंक को बड़ा झटका, घटाई साख, परिदृश्य को बताया नकारात्मक

नई दिल्ली| पुनः संशोधित मंगलवार, 27 नवंबर 2018 (18:45 IST)
नई दिल्ली। इन्वेस्टर सर्विस ने विदेशी मुद्रा में अंकित कर्जों के लिए निजी क्षेत्र के की वित्तीय का स्तर मंगलवार का घटाकर गैर निवेश श्रेणी में रख दिया। साथ ही बैंक के निदेशक मंडल से हाल में हुए कई इस्तीफों के बीच बैंक के लिए आगामी परिदृश्य को भी स्थिर से प्रतिकूल कर दिया है।

भारतीय रिजर्व बैंक ने यस बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी राणा कपूर का कार्यकाल 31 जनवरी, 2019 तक सीमित कर दिया है। उसके बाद से बैंक में कई इस्तीफे हुए हैं।

मूडीज ने कहा है कि बैंक की घोषित बुनियादी वित्तीय स्थिति स्थिर है, लेकिन इसके नेतृत्व में बदलाव को लेकर जुड़े घटनाक्रमों के बैंक के संचालन से सुड़े मुद्दे साख के लिए प्रतिकूल हैं क्योंकि ये उनके चलते प्रबंधन के लिए बैंक की दीर्घावधि रणनीति के क्रियान्वयन में उलझने पैदा होंगी। इन घटनाक्रमों से बैंक की नई पूंजी जुटाने की क्षमता प्रभावित होगी।
मूडीज ने बैंक की विदेशी मु्द्रा में ऋणों के लिए रेटिंग को बीएए3 से घटाकर बीए1 कर दिया है। इसी तरह बैंक न्यूनतम साख के स्तर (बीसीए) को बीए1 से बीए2 कर दिया है। इसी तरह बैंक के परिदृश्य को स्थिर से नकारात्मक कर दिया गया है। (भाषा)


और भी पढ़ें :