Widgets Magazine

सोना जा सकता है 30 हजार के पार

पुनः संशोधित शुक्रवार, 14 अप्रैल 2017 (20:35 IST)

नई दिल्ली। भू-राजनीतिक तनावों के बल पर दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना लगातार चौथे दिन बढ़त में रहा। यह 100 रुपए की तेजी के साथ 29,950 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान पर सबसे बड़ा गैर-परमाणु बम गिराए  जाने के बाद पीली धातु के 30 हजार रुपए  प्रति दस ग्राम के पार जाने की पूरी संभावना है। इस बीच चांदी भी 100 रुपए  की छलांग लगाकर 43,000 रुपए  प्रति किलोग्राम बोली गई। यह दोनों कीमती धातुओं का लगभग छह सप्ताह का उच्चतम स्तर है।
 
अमेरिका ने गुरुवार को अफगानिस्तान पर 10 हजार किलोग्राम का बम गिराया जो अब तक का सबसे भारी गैर-परमाणु बम है। यह बम पाकिस्तान सीमा से सटे उन इलाकों में गिराया गया जहां कथित तौर पर आईएस के आतंकवादी छुपने के लिए गुफाओं का इस्तेमाल करते हैं।
 
गुडफ्राइडे के कारण शुक्रवार को प्रमुख विदेशी सर्राफा बाजार बंद रहे। हालांकि बाजार विश्लेषकों का कहना है कि सोमवार को बाजार खुलने पर अमेरिकी हमले का असर पीली धातु पर दिख सकता है और यह 1,300 डॉलर के पार निकल सकती है। इसके अलावा उत्तर कोरिया के भी अगले सप्ताह मिसाइल परीक्षण या किसी प्रकार की अन्य कार्रवाई के कयास लगाए जा रहे हैं। इन भू-राजनीतिक तनावों से अभी सोने में तेजी बनी रहने की उम्मीद है।
 
स्थानीय बाजार में सोने में लगातार चौथे दिन तेजी रही। सोना स्टैंडर्ड 100 रुपए चमककर 29,950 रुपए  प्रति दस ग्राम पर और सोना बिटुर इतनी ही मजबूती के साथ 29,800 रुपए  प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। यह इनका 4 मार्च के बाद का उच्चतम स्तर है। हालांकि आठ ग्राम वाली गिन्नी 24,500 रुपए पर टिकी रही।
 
चांदी में भी बढ़त रही। चांदी हाजिर 100 रुपए ऊपर 43,000 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। यह इसका भी 4 मार्च के बाद का उच्चतम स्तर है। चांदी वायदा 120 रुपए की तेजी के साथ 42,570 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव बिकी। सिक्का लिवाली और बिकवाली क्रमश: 72 हजार और 73 हजार रुपए प्रति सैकड़ा पर स्थिर रहे। 
 
कारोबारियों ने बताया कि वैश्विक परिदृश्य से सोने को बल मिल रहा है इसलिए आने वाले समय में इसमें और तेजी की उम्मीद है। हालांकि स्थानीय मांग बहुत मजबूत नहीं है। (वार्ता)
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine