अब बाजार में आया पतंजलि का सस्ता दूध

नई दिल्ली| Last Updated: गुरुवार, 13 सितम्बर 2018 (15:32 IST)
नई दिल्ली। की पतंजलि आयुर्वेद ने गुरुवार को और उससे बने उत्पादों (दही, चीज) को पेश करके डेयरी क्षेत्र में उतरने की घोषणा की। बाबा की पतंजलि आयुर्वेद का दूध अन्य स्थापित ब्रांडों की तुलना में 2 रुपए सस्ता होगा। कंपनी ने इस क्षेत्र के लिए 1000 करोड़ रुपए का बिक्री लक्ष्य रखा है।
रामदेव ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, 'हमने अगले वित्त वर्ष में डेयरी क्षेत्र से 1,000 करोड़ रुपए का कारोबार करने का लक्ष्य रखा है। इस वित्त वर्ष हम 500 करोड़ रुपए का कारोबार करेंगे।'

पतंजलि के पास करीब 56,000 खुदरा विक्रेताओं का नेटवर्क है, जिसके जरिये दूध की आपूर्ति की जायेगी। रामदेव ने कहा कि प्रतिदिन 10 लाख लीटर दूध बेचने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि नियमित (पैकेट) दूध के अलावा, टेट्रा पैक में भी दूध और उससे बने उत्पाद पेश किए जाएंगे।

पतंजलि ने 'दिव्य जल' के नाम से विभिन्न आकार में बोतलबंद पानी भी पेश किया है।इसके अलावा, पतंजलि ने फ्रोजन सब्जी श्रेणी में भी कदम रखा और स्वीट कॉर्न, मटर जैसे उत्पाद पेश किए।

दीपावली पर लांच होंगे पतंजलि के परिधान
: योग गुरु रामदेव ने कहा कि पतंजलि दीपावली के अवसर पर सभी वर्ग के लोगों के लिए 3,000 तरह के परिधान और जूते-चप्पल लॉन्च करेगी। पतंजलि लंगोट से धोती और साड़ी से जींस तक के सिले-सिलाए वस्त्र के कारोबार में उतर रही है। उन्होंने कहा कि बच्चों, महिलाओं, पुरुषों, योग, खेल और दैनिक जरूरतों के सभी उत्पादों को बाजार में उतारेगी। शादी के शुभ अवसर पर पहने जाने वाले परिधानों को खास तौर पर पेश किया जाएगा।

देश गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई से त्रस्त : पिछले आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में लोगों से वोट देने की अपील करने वाले योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि देश की जनता गरीबी, बेरोजगारी तथा महंगाई से त्रस्त है और विदेशों से कालाधन लाने के लिए कड़े कदम नहीं उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि महंगाई का विध्न आया हुआ है इससे विध्नहर्ता भगवान गणेश ही उबार सकते हैं।
पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा टैक्स : इस ओर ध्यान दिलाए जाने पर कि पिछले चुनाव के दौरान उन्होंने लोगों से कहा था कि मोदी के सत्ता में आने पर पेट्रोल डीजल 35-40 रुपए लीटर मिलेगा जिसका भाजपा ने भी समर्थन किया था। योग गुरु ने कहा कि मैंने ऐसा कहा था लेकिन सरकार ने पेट्रोल एवं डीजल पर सबसे अधिक टैक्स ठोक रखा है।


और भी पढ़ें :