निबंध | बाल दिवस | चिट्ठी-पत्री | कहानी | क्या तुम जानते हो? | हँसगुल्ले | प्रेरक व्यक्तित्व | कविता | अजब-गजब | टीचर्स डे | अकबर बीरबल के किस्से | सिंहासन बत्तीसी
मुख पृष्ठ » लाइफ स्‍टाइल » नन्ही दुनिया » निबंध » हिन्दी निबंध : हमारा विद्यालय (Nibandh in Hindi on my School)
पिछला|अगला
WD


प्रस्तावना-

विद्यालय अर्थात्+आलय यानी विद्या का घर। विद्यालय में सभी जाति, धर्म और वर्ग के बच्चे बढ़ने आते हैं। विद्यालय शासकीय और अशासकीय दोनों प्रकार के होते हैं। मेरे नगर में कई विद्यालय हैं। मैं सुभाष माध्यमिक विद्यालय में पढ़ता हूं। यह नगर के मध्य नई सड़क पर स्थित है।

अगले पेज पर पढ़ें : कैसा है विद्यालय का भवन और परिवार

पिछला|अगला
संबंधित जानकारी
Feedback Print