कविता : प्यारे बच्चे

हम भारत देश के,
प्यारे बच्चे।
सारे जग से,
न्यारे बच्चे।
ज्ञान का सागर,
लहराता है।
जब अंबर,
मुस्काता है।

सब कहते हैं,
मुझको अच्छे।
हम कर्तव्यनिष्ठा के,
सच्चे बच्चे।

देव बेला में,
उठ जाते हैं।
नित्य क्रिया से,
फुरसत होके।
पढ़ने पर ध्यान,
लगाते हैं।

सबको करते हम,
सदा नमस्ते।
हम भारत देश के,
प्यारे बच्चे।
सारे जग से,
न्यारे बच्चे।


और भी पढ़ें :