IPL-10: मुंबई पर जीत से सनराइजर्स प्लेआफ के करीब

पुनः संशोधित मंगलवार, 9 मई 2017 (00:11 IST)
हैदराबाद। गेंदबाजों के लाजवाब प्रदर्शन और सलामी बल्लेबाज के के दम पर ने आज यहां मुंबई इंडियन्स को दस गेंद शेष रहते हुए सात विकेट से हराकर आईपीएल-10 के प्लेआफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को मजबूती प्रदान की।
रोहित शर्मा (45 गेंदों पर 67 रन) के अर्धशतक के बावजूद सनराइजर्स ने मुंबई को सात विकेट पर 138 रन पर रोक दिया था। धवन (46 गेंदों पर नाबाद 62) और मोएजेस हेनरिक्स (35 गेंदों पर 44 रन) के बीच दूसरे विकेट के लिए 91 रन की साझेदारी की मदद से सनराइजर्स ने 18.2 ओवर में तीन विकेट पर 140 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की।

सनराइजर्स की 13 मैचों में यह सातवीं जीत है। उसके अब 15 अंक हो गए हैं। वह पहले की तरह चौथे स्थान पर बना हुआ है। उसकी इस जीत से दिल्ली डेयरडेविल्स की प्लेआफ में पहुंचने की रही सही संभावना भी समाप्त हो गयी है। मुंबई ने 12वें मैच में तीसरी हार का सामना किया। वह अब भी 18 अंक साथ अंकतालिका में शीर्ष पर है।

सनराइजर्स के लिए टॉस गंवाना सही रहा क्योंकि उसके तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण ने शुरू से ही मुंबई के बल्लेबाजों को बैकफुट पर रखा। पिछले मैच में चार विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज सिद्धार्थ कौल ने 24 रन देकर तीन जबकि भुवनेश्वर कुमार ने 29 रन देकर दो विकेट लिए। अफगानिस्तान के दोनों स्पिनरों ने मोहम्मद नबी और राशिद खान ने आठ ओवरों में केवल 35 रन देकर दो विकेट लिए।

हैदराबाद की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। मिशेल मैकलेनगन में अपने दूसरे ओवर में खतरनाक डेविड वॉर्नर (6) को पगबाधा आउट करके पैवेलियन भेज दिया। इसके बाद धवन और हेनरिक्स ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली। इन दोनों ने ढीली गेंदों पर प्रहार किए और स्कोर बोर्ड को चलायमान रखा।

हेनरिक्स ने लसित मलिंगा पर लगातार दो चौके जमाकर अपने स्कोर को गति दी लेकिन जसप्रीत बुमराह की ऑफ कटर पर वह एक्स्ट्रा कवर पर आसान कैच दे बैठे। उनकी पारी में छह चौके शामिल हैं। युवराज सिंह (9) क्षेत्ररक्षण के दौरान हाथ में दर्द के कारण मैदान छोड़ना पड़ा था। वह चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे लेकिन क्रीज पर उनकी परेशानी साफ दिख रही थी।

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने सातवीं गेंद का सामना करते हुए चौका जड़कर खाता खोला था। मलिंगा ने अगले ओवर में उनके संघर्ष पर विराम लगाया। धवन ने इस बीच 35 गेंदों पर अपना 37वां टी20 अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने इसके बाद विजय शंकर (नाबाद 15) के साथ सहजता से रन बटोरकर को टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया। धवन ने अपनी पारी में चार चौके और दो छक्के लगाए।
इससे पहले मुंबई की तरफ से रोहित के अलावा पार्थिव पटेल (23) और हार्दिक पांड्या (15) ही दोहरे अंक में पहुंचे। बारिश और बादल छाए रहने के कारण मौसम में नमी थी लेकिन इसके बावजूद रोहित ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया जो सही साबित नहीं हुआ। मुंबई का शीर्ष क्रम लड़खड़ा गया और एक समय उसका स्कोर तीन विकेट पर 36 रन था। इसके बाद रोहित और पांड्या ने चौथे विकेट के लिए 60 रन जोड़े।

दूसरे बदलाव के तौर पर आए कौल ने पहली गेंद पर ही फार्म में चल रहे नितीश राणा (9) को पैवेलियन भेजा, जिन्होंने लंबा शॉट खेलने के प्रयास में भुवनेश्वर को कैच का अभ्यास कराया। पार्थिव को अगली गेंद पर जीवनदान मिला लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए। कौल ने अपने अगले ओवर में उन्हें लांग ऑन पर कैच करा दिया।

रोहित ने इसके बाद बखूबी जिम्मेदारी संभाली। दूसरे छोर पर जब पांड्या रन बनाने के लिए जूझ रहे थे, तब उन्होंने कुछ करारे शॉट जमाए। चाहे वह राशिद पर लगाया गया छक्का हो या हेनरिक्स के एक ओवर में तीन चौके, मुंबई के कप्तान ने अपनी तरफ से प्रयास जारी रखे।

रोहित ने 34 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया, जो में पहले बल्लेबाजी करते हुए उनका 2015 के फाइनल के बाद पहला पचासा है। उन्होंने डेथ ओवरों में कौल की गेंद अपने विकेटों पर खेली। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के लगाए।

इससे पहले हार्दिक (24 गेंदों पर 15 रन) की संघषर्पूर्ण पारी का अंत राशिद ने किया। कीरोन पोलार्ड (5 गेंदों पर नौ रन) भी डेथ ओवरों में कमाल दिखाने में नाकाम रहे। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :