IPL 10 : प्लेऑफ में जगह पक्की करने उतरेगी केकेआर

Last Updated: बुधवार, 3 मई 2017 (00:22 IST)
कोलकाता। हैदराबाद से मिली हार की निराशा को पीछे छोड़ गौतम गंभीर की बुधवार को के खिलाफ घरेलू पर में जगह पक्की करने उतरेगी। कोलकाता का अब तक का सफर टूर्नामेंट में बेहतरीन रहा है और हैदराबाद से हारने से पूर्व उसने लगातार तीन मैच जीते थे।




जीत की पटरी पर सवार कोलकाता को पिछले मैच में हैदराबाद के हाथों 48 रन से बड़ी शिकस्त झेलनी पड़ी थी जिससे उसका प्लेऑफ में पहुंचने का सपना कुछ टल गया था। केकेआर फिलहाल 10 मैचों में सात जीतने के बाद 14 अंक लेकर दूसरे स्थान पर है जबकि स्टीवन स्मिथ की पुणे ने पिछले मैच में गुजरात लायंस को पांच विकेट से हराया था और वह तालिका में इतने ही मैचों में छह जीती है और 12 अंक लेकर चौथे पायदान पर है।



तालिका में शीर्ष पर चल रही मुंबई प्लेऑफ में सबसे पहले जगह पक्की कर चुकी है और अब दूसरे नंबर की केकेआर अपनी जगह पक्की करने से एक कदम दूर है। कोलकाता का अब तक का सफर टूर्नामेंट में बेहतरीन रहा है और हैदराबाद से हारने से पूर्व उसने लगातार तीन मैच जीते थे। दो बार की चैंपियन केकेआर के पास कमाल का बल्लेबाजी और गेंदबाजी क्रम है और उसके लिए वापस पटरी पर लौटना बहुत मुश्किल साबित नहीं होगा।



हालांकि पुणे ने पिछले मैच में गुजरात को हराया था जिसके बाद उसका मनोबल काफी बढ़ा है। इस मैच में टीम के ओपनिंग क्रम के बुरी तरह विफल रहने के बाद जिस तरह उसके स्टार बल्लेबाज बेन स्टोक्स ने नाबाद 103 रन की शतकीय पारी से टीम को जीत दिलाई उससे साफ है कि टीम किसी एकाध बल्लेबाज पर निर्भर नहीं है, वहीं इस मैच में जयदेव उनादकट और इमरान ताहिर की गेंदबाजी ने भी जीत में अहम योगदान दिया था।



पुणे की टीम का सफर भले ही आईपीएल में अब तक का उतार-चढ़ाव भरा रहा है लेकिन अहम पड़ाव पर आकर वह सही दिशा में आगे बढ़ रही है और यदि वह केकेआर को हराती है तो उसके पास तालिका में आगे बढ़ने का मौका भी रहेगा, जबकि कोलकाता की स्थिति इससे मुश्किल हो सकती है।




केकेआर की ही तरह पुणे के पास कप्तान स्‍टीवन स्मिथ, बेन स्टोक्स, अजिंक्य रहाणे, मनोज तिवारी, महेंद्र सिंह धोनी और राहुल त्रिपाठी जैसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं। स्मिथ (324) और त्रिपाठी (259) दोनों ही टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि गेंदबाजों में उनादकट (10) और ताहिर (16) दोनों ही अब तक के सफल गेंदबाज हैं। ऑलराउंडर तथा शतकधारी स्टोक्स ने गेंदबाजी में भी बहुत उम्दा प्रदर्शन किया है और वह पुणे के ताकतवर और महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में हैं।



खिताबी हैट्रिक का सपना देख रही गंभीर की कोलकाता को भले ही पिछले मैच में हार झेलनी पड़ी हो, लेकिन वह टूर्नामेंट की सफल और मजबूत टीमों में है, जो अगला मैच अपने घरेलू मैदान पर खेलने जा रही है और निश्चित ही उसे इसका फायदा होगा। कप्तान गंभीर और जबरदस्त फार्म में चल रहे आक्रामक रॉबिन उथप्पा इस समय उसकी बल्लेबाजी की रीढ़ हैं।





पिछले 10 मैचों में चार अर्धशतक सहित 387 रन बनाकर गंभीर और पांच अर्धशतक ठोककर 384 रन बनाकर उथप्पा कोलकाता के सबसे बड़े रन स्कोरर हैं। इसके अलावा सुनील नारायण ने भी ओपनिंग में खुद को साबित किया है। मनीष पांडे भी टीम के लिए 300 का आंकड़ा पार कर चुके हैं। हैदराबाद के खिलाफ हार के कारण उथप्पा की खीझ भी मैदान पर दिखी थी और उम्मीद है कि वह उसे पीछे छोड़ केकेआर को पटरी पर ले आएंगे।




लेकिन पिछले मैच में विपक्षी टीम को 200 के पार पहुंचाने में केकेआर के गेंदबाजों का महंगा प्रदर्शन जिम्मेवार रहा और टीम की हार की वजह बना, जिसमें व्यापक सुधार की जरूरत है। इस मैच में क्रिस वोक्स और कुलदीप यादव खासे महंगे रहे थे। नाथन कोल्टर नाइट, वोक्‍स और चाइनामैन गेंदबाज हालांकि केकेआर के सफल गेंदबाज हैं लेकिन उन्हें पुणे के खिलाफ बेहतर गेंदबाजी करनी होगी। (वार्ता)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :