श्रीलंका में सिलसिलेवार 8 बम धमाकों में 215 लोगों की मौत, मृतकों में तीन भारतीय

Last Updated: रविवार, 21 अप्रैल 2019 (23:16 IST)
कोलंबो/नई दिल्ली। श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में रविवार को ईस्टर के अवसर पर तीन कैथोलिक चर्चों और तीन पांच सितारा होटलों को निशाना बनाकर किए गए बम धमाकों में कम से कम 215 लोगों की मौत हो गई तथा करीब 500 लोग घायल
हो गए।
मृतकों में तीन भारतीय भी शामिल हैं।

बम धमाकों में घायल हुए लोगों में विदेशी नागरिक भी हैं। घायलों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इनमें से कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक श्रीलंका की राजधानी कोलंबों और अन्य शहरों में में चर्चों और होटलों को निशाना बनाकर कुल 8 धमाके किए गए। राजधानी के दो कैथोलिक चर्च में ईस्टर के मौके पर कई लोग प्रार्थना के लिए इकट्ठा हुए थे।
सोशल मीडिया पर लगी रोक : इन हमलों को देखते हुए श्रीलंका सरकार ने व्हाट्सएप, वाइबर और फेसबुक सहित सोशल नेटवर्क और मैसेजिंग एप्स पर अस्थायी रूप रोक लगा दी है। श्रीलंका सरकार ने इस घटना के बाद आपातकालीन बैठक की है।
राष्ट्रव्यापी कर्फ्यू : शिक्षा मंत्रालय ने सभी स्कूलों को सोमवार और मंगलवार तक के लिए बंद रखने का निर्देश दिए हैं। सरकार ने सोमवार सुबह छह बजे तक राष्ट्रव्यापी कर्फ्यू लगाया है। सिलसिलेवार धमाकों के बाद शहर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य जारी है।

किसी संगठन ने नहीं ली जिम्मेदारी : अब तक किसी भी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। प्रधानमंत्री विक्रमासिंघे ने इन धमाकों की कड़ी निंदा करते हुए इस मुश्किल समय में लोगों से एकजुट होने तथा गलत सूचनाओं पर विश्वास नहीं करने और शांति बनाए रखने की अपील की है।

श्रीलंका के वित्त मंत्री मंगला समरवीरा ने ट्वीट किया कि चर्च और होटलों में ईस्टर रविवार बम धमाकों में निर्दोष लोग मारे गए हैं और ऐसा लगता है कि हत्या, अफरा तफरी और अराजकता फैलाने के लिए ऐसे भयानक हमले को अंजाम दिया गया।
श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति और विपक्षी नेता महिंदा राजपक्षे ने धमाकों की निंदा करते हुए इसे अमानवीय करार दिया है।
श्रीलंका एयरलाइंस कंपनी ने कहा हमले के बाद कोलंबो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सुरक्षा उपायों को बढ़ाया गया है। स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार देश में आठ स्थानों पर विस्फोट हुए जिसमें से राजधानी कोलंबो के तीन चर्चों और तीन होटलों और शेष शहर के अन्य स्थानों पर हुए।

पहला विस्फोट कोचचिकाडे में सेंट एंथेनी चर्च में हुआ और अन्य विस्फोट कटुवापिटिया और कटाना के सेंट सेबेस्टियन चर्च में विस्फोट हुआ। पुलिस ने बताया कि राजधानी कोलंबो के ही तीन पांच सितारा होटल शंगरी-ला, सिनामन ग्रैंड और किंग्सबरी में भी धमाके हुए।
गौरतलब है कि ईसाई धर्म की मान्यताओं के अनुसार, गुड फ्राइडे के तीसरे दिन ईसा मसीह दोबारा जीवित हो गए थे, जिसे ईसाई धर्म के लोग ईस्टर संडे के नाम से मनाते हैं।
सात लोगों को किया गिरफ्तार : श्रीलंका के रक्षामंत्री आर विजयवर्धन का कहना है कि ये आत्मघाती हमले हैं। अभी तक सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि खुफिया एजेंसियों ने हमले के बारे में सूचित किया था, लेकिन इससे पहले कि उन्हें रोका जाता, धमाकों को अंजाम दे दिया गया। इसकी साज़िश विदेश में रची गई। इन धमाकों में तीन पुलिस अधिकारी भी मारे गए हैं। यह धमाका उस समय हुआ जब पुलिस अधिकारी कोलंबो में एक घर की तलाशी ले रहे थे।
कोलंबो राष्ट्रीय अस्पताल ने मृतकों की संख्या की पुष्टि की है। श्रीलंका से प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि मृतकों में 9 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।

इंटरपोल जांच में मदद के लिए तैयार : इंटरनेशनल क्रिमिनल पुलिस ऑर्गेनाइजेशन (इंटरपोल) के महासचिव जुर्गेन स्टॉक ने श्रीलंका में रविवार को हुए आतंकवादी हमलों की निंदा करते हुए कहा कि इंटरपोल इन हमलों की जांच में श्रीलंकाई अधिकारियों का सहयोग करने लिए तैयार है।
स्टॉक ने टि्वटर पर एक बयान में कहा कि इंटरपोल श्रीलंका में हुए भयानक हमलों की कड़ी निंदा करता है और श्रीलंकाई अधिकारियों द्वारा की जा रही जांच में पूरा सहयाग करने की पेशकश करता है। हमारी प्रार्थनाएं हमलों का शिकार हुए लोगों और उनके परिवारों के साथ है। बयान के अनुसार इंटरपोल श्रीलंका में जांच के सिलसिले में राष्ट्रीय कानून प्रवर्तन के सहयोग के लिए विशेष दल भेज सकता है।
एयर इंडिया लौटाएगी टिकट का पूरा पैसा : भारत की सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया ने श्रीलंका की मौजूदा परिस्थितियों के मद्देनजर कोलंबो जाने और वहां से आने के टिकट बिना किसी शुल्क के रद्द करने की पेशकश की है।

कंपनी ने रविवार को बताया कि कोलंबो जाने या वहां से आने के लिए जिन यात्रियों ने 24 अप्रैल तक के टिकट बुक कराए हैं, उन्हें टिकट रद्द कराने या यात्रा की तारीख एवं समय में बदलाव के लिए शुल्क नहीं देना होगा। उन्हें पूरा पैसा लौटाया जाएगा।

तीन भारतीयों की मौत : नेशनल हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. अनिल जयसिंघे ने 33 में से 12 विदेशियों की पहचान की है, जिनमें 3 भारतीय, 2 चीनी व पोलैंड, डेनमार्क, जापान, पाकिस्तान, अमेरिका, मोरक्को और बांग्लादेश के एक-एक नागरिक शामिल हैं।
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर तीन भारतीय की पहचान लक्ष्मी, नारायण चंद्रशेखर और रमेश के तौर पर की है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त ने जानकारी दी है कि नेशनल हॉस्पिटल ने उन्हें तीन भारतीयों की मौत के बारे में सूचित किया है।


भारतीय उच्चायुक्त ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर : कोलंबो में भारतीय उच्चायुक्त ने ट्वीट किया कि ‘विस्फोट आज कोलंबो और बट्टिकलोवा में हुए। हम स्थिति पर लगातार नजर रख रहे हैं। भारतीय नागरिक किसी भी तरह की सहायता, मदद और स्पष्टीकरण के लिए इन नंबरों पर फोन कर सकते हैं- +94777903082, +94112422788, +94112422789 ।’
उच्चायुक्त ने अन्य एक ट्वीट में लिखा कि‘दिए गए नंबरों के अलावा भारतीय नागरिक किसी भी सहायता व मदद और अन्य किसी स्पष्टीकरण के लिए +94777902082, +94772234176 नंबरों पर फोन कर सकते हैं।


और भी पढ़ें :