यह टूटे हुए वादों का राष्ट्रपति कार्यकाल है : रो खन्ना

वॉशिंगटन| पुनः संशोधित शुक्रवार, 31 मार्च 2017 (15:21 IST)
वॉशिंगटन। भारतीय मूल के अमेरिकी सांसद रो खन्ना चुनाव प्रचार के समय नौकरियां वापस लाने और देश के विनिर्माण क्षेत्र को फिर से खड़ा करने जैसे वादों को पूरा करने में विफल रहने के मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति की आलोचना की।
ओबामा प्रशासन के समय वाणिज्य मंत्रालय में उपमंत्री रहे 40 वर्षीय सांसद खन्ना ने कहा कि यह टूटे हुए वादों का राष्ट्रपति कार्यकाल है। अमेरिका में भारतीय आईटी पेशेवरों का गढ़ माने जाने वाली सिलिकॉन वैली का प्रतिनिधित्व करने वाले खन्ना ने कहा कि ट्रंप ने अपने वादे पूरे नहीं किए।

उन्होंने कहा कि ट्रंप ने हेल्थकेयर के दायरे में विस्तार और कीमतें कम करने का वादा किया था। उन्होंने ऐसे विधेयक का प्रस्ताव रखा है जिससे हेल्थकेयर के दायरे में कटौती होगी और प्रीमियम बढ़ जाएगा। उन्होंने श्रमिक परिवारों की मदद करने का वादा किया था, ना कि वॉल स्ट्रीट का। उन्होंने बजट में ऐसा प्रस्ताव रखा जिससे श्रमिक परिवारों के वित्त पोषण में कमी होगी और वॉल स्ट्रीट के लिए कर में छूट मिलेगी। खन्ना ने अपनी एक किताब में देश के विनिर्माण क्षेत्र को पुनर्जीवित करने का ब्लू प्रिंट पेश किया है।
उन्होंने कहा कि अगर ट्रंप विनिर्माण के क्षेत्र में नौकरियां पैदा करने को लेकर गंभीर हैं तो वे विनिर्माण के लिए निधि देंगे, साझेदारी बढ़ाएंगे न कि इसके वित्त पोषण में कटौती करेंगे। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :