Widgets Magazine

पाकिस्तान में 30 खूंखार आतंकवादियों को मौत की सजा

इस्लामाबाद| पुनः संशोधित गुरुवार, 20 अप्रैल 2017 (00:11 IST)
इस्लामाबाद। पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने 30 खूंखार आतंकवादियों की की तामील के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए। विवादित विशेष सैन्य अदालतों ने इन आतंकियों को 2014 में पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल में हुए हमले सहित कई आतंकी मामलों में उनकी संलिप्तता के लिए दोषी करार दिया था।
 
सेना की मीडिया शाखा इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने कहा कि ये आतंकवादी फ्रंटियर कांस्टेबुलरी के कर्मियों के अपहरण एवं हत्या, सैदू शरीफ हवाई अड्डे पर हमले, निर्दोष नागरिकों की हत्या, के सशस्त्र बलों एवं विधि प्रवर्तन एजेंसियों पर हमले सहित कई बर्बर आतंकी अपराधों में शामिल थे।
 
देश में आतंकी हमलों में आई तेजी के बीच दो साल की अवधि के लिए गत 31 मार्च को पाकिस्तान की विवादित विशेष सैन्य अदालतों को बहाल किया गया। इन अदालतों खूंखार आतंकियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाता है।
पेशावर के स्कूल में तालिबान के हमले के बाद जनवरी, 2015 में सैन्य अदालतों का गठन किया गया था। इस हमले में 150 लोग मारे गए थे जिनमें अधिकतर बच्चे थे। (भाषा) 


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine