पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस बंद करने पर विचार

पुनः संशोधित शुक्रवार, 19 मई 2017 (20:34 IST)
इस्लामाबाद। घाटे में चल रही पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के लिए ने सभी दलों से पार्टी लाइन से हटकर इसे ‘दिवालिया’ घोषित कर बंद करने की अपील की है क्योंकि एयरलाइन में अनुशासन, शीर्ष गुणवत्ता प्रबंधन, नैतिक और पेशवर अधिकारियों का अकाल है।
कल संसद की विशेष समिति के समक्ष यह प्रस्ताव प्रधानमंत्री के विमानन सलाहकार सरदार मेहताब अब्बासी ने रखा। इस समिति का गठन के एक विमान में लंदन में नशीली दवाएं पाए जाने के बाद उसके प्रदर्शन के आकलन के लिए किया गया है।

डॉन अखबार ने अब्बासी के हवाले से लिखा है, संसदीय समिति की ओर से की गई ऐसी सिफारिश (बंद करने की सिफारिश) से सरकार को इस मुश्किल फैसले को लेने में मदद मिलेगी नहीं तो वह ऐसा करने में हिचकेगी।
समिति ने पीआईए के संपूर्ण सुधार पर अपनी सिफारिशों की स्थिति पर विचार-विमर्श करने के लिए बैठक की और पिछले एक महीने में घटी उन घटनाओं पर विचार किया, जिनसे देश और एयरलाइन दोनों की साख पर बट्टा लगा है।

अब्बासी ने समिति के सामने तीन विकल्प रखे हैं- पहला कि यह जैसे चल रही है उसे वैसा ही घाटे में चलने दें, दूसरा इसे दिवालिया घोषित कर बंद कर दें या तीसरा इसका पुनर्गठन करें।
उन्होंने कहा, हम पीआईए को पुनगर्ठित करने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन यह एक दुष्कर काम है। अब्बासी ने कहा कि पीआईए में अनुशासन, शीर्ष गुणवत्ता प्रबंधन, नैतिक और पेशेवर अधिकारियों और ‘अपनत्व’ का अभाव है।

समिति के चेयरमैन मुशाहिदुल्लाह खान ने कहा कि समिति पीआईए को बंद करने के पक्ष में नहीं है। खान पाकिस्तान की सत्ताधारी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) से संबद्ध हैं।
उन्होंने कहा, हमारा मानना है कि शीर्ष स्तर पर कुछ अच्छे अधिकारी पीआईए के खोए हुए वैभव को वापस ला सकते हैं। हालांकि शीर्ष गुणवत्ता के अधिकारी पीआईए में और काम नहीं करना चाहते हैं। समिति के सदस्य इस बात पर सहमत हैं कि सदन से मंजूर उसकी सिफारिशें पीआईए का कायाकल्प करने में मदद कर सकती हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :