Widgets Magazine

भारतीय मूल के लियो वराडकर बने आयरलैंड के प्रधानमंत्री

डबलिन| पुनः संशोधित शनिवार, 3 जून 2017 (09:35 IST)
डबलिन। आयरलैंड में भारतीय मूल के को सत्ताधारी गठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी फ़ाइन गेल का नेता चुना गया है और अब वह देश के पहले समलैंगिक प्रधानमंत्री होंगे।
 
38 वर्षीय वराडकर ने अपने अपने प्रतिद्वंद्वी और हाउसिंग मिनिस्टर साइमन कोवेनी को 60 प्रतिशत वोटों से हराया और अब वह आयरलैंड के अब तक के सबसे युवा और समलैंगिक प्रधानमंत्री भी होंगे। उन्होंने देश के सत्ताधारी गठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी इन गेल के नेतृत्व का चुनाव जीत लिया है और वह अगले कुछ सप्ताह में देश के प्रधानमंत्री बन जाएंगे।
 
वराडकर ने अपनी इस शानदार जीत के बाद कहा, 'मेरा चुनावी परिणाम ही सबकुछ बयां कर रहा है। मुझे पता है कि मेरे पिता पांच हजार किलोमीटर दूर चलकर आयरलैंड में एक नये घर बनाने का सपना देखते थे। मुझे लगता है कि उन्होंने कभी यह नहीं सोचा था कि एक दिन उनका बेटा इस देश का प्रधानमंत्री होगा। आज देश में हर माता पिता को अपने बच्चे के ऊपर के गर्व होना चाहिए।'
 
18 जनवरी 1979 को डबलिन में पैदा हुए वराडकर के पिता अशोक मुंबई से आए एक डॉक्टर थे जिन्होंने आयरिश मूल की नर्स मरियम से शादी की थी। उन दोनों की मुलाकात इंग्लैंड के बर्कशर में साथ काम करते हुए हुई थी और बाद में वो दोनों 70 के दशक में आयरलैंड में बस गए थे।
 
वराडकर ने अपना चुनावी अभियान सामाजिक और आर्थिक मुद्दों पर केंद्रित रखा। प्रधानमंत्री बनने के बाद अब उनके सामने आयरलैंड की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना और ब्रेक्सिट के बाद के हालात से निबटने जैसी चुनौतियां होंगी। (वार्ता) 
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine