ट्रंप ने कहा, ये पूरी तरह बुरे लोगों की करतूत...

पुनः संशोधित मंगलवार, 3 अक्टूबर 2017 (00:40 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लॉस वेगास में एक कंसर्ट के दौरान गोलीबारी की घटना को आज ‘पूरी तरह बुरे लोगों की करतूत’ करार दिया। हमले में कम से कम 58 लोग मारे गए और 500 से ज्यादा लोग घायल हो गए।
ट्रंप ने लोगों से एकता का आह्वान करते हुए कहा कि त्रासदी और खौफ के क्षणों में अमेरिका ने हमेशा एकजुटता दिखाई है।

राष्ट्रपति ने देश के नाम अपने संबोधन में कहा, ‘बीती रात एक बंदूकधारी ने लॉस वेगास में संगीत कंसर्ट के दौरान गोलीबारी की। उसने 50 से ज्यादा लोगों की निर्मम हत्या कर दी और सैकड़ों लोगों को घायल कर दिया। यह पूरी तरह बुरे लोगों की करतूत है।’

ट्रंप ने आदेश जारी किया है कि व्हाइट हाउस और दूसरी संघीय इमारतों पर अमेरिकी ध्वज झुका दिए जाएं। उन्होंने कहा कि वह कानून प्रवर्तन एजेंसी, सबसे पहले कदम उठाने वालों और पीड़ित परिवारों से मुलाकात करने के लिए बुधवार को लॉस वेगास जाएंगे। ट्रंप को कल प्यूर्तो रिको भी जाना है।
इससे पहले, ट्रंप ने ट्वीट के जरिए लास वेगास की भयावह गोलीबारी के पीड़ितों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिवारों के साथ सहानुभूति जताई।

उनकी प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने कहा कि व्हाइट हाउस स्थिति की करीबी निगरानी कर रहा है और स्थिति से निपटने के लिए राज्य तथा स्थानीय अधिकारियों को पूरा समर्थन देने की पेशकश की है।

उप-राष्ट्रपति माइक पेंस ने भी ट्वीट कर पीड़ितों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिवारों के सदस्यों के साथ सहानुभूति जतायी।
उल्लेखनीय है कि अमेरिका के लॉस वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 58 लोगों की मौत हो गई और सैंकडों लोग घायल हो गए।
पुलिस के अनुसार बंदूकधारी की पहचान 64 वर्षीय स्टीफन पैडॉक के तौर पर हुई है। वह स्थानीय निवासी था। वह होटल के अपने कमरे में मारा गया।

एफबीआई ने कहा आतंकवाद से कोई संबंध नहीं : गोलीबारी की भयावह घटना से अंतरराष्ट्रीय आतंकी समूहों का किसी तरह का संबंध अब तक नहीं पाया गया है। इस्लामिक स्टेट की दुष्प्रचार एजेंसी ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।
पुलिस ने कहा कि स्टीफन पेडॉक नामक व्यक्ति ने इस हमले को अंजाम दिया। एफबीआई के लॉस वेगास कार्यालय के प्रभारी एजेंट आरोन राउस ने कहा, ‘जैसे ही यह घटना सामने आई तो हम इस नतीजे पर पहुंचे कि इस घटना का अंतरराष्ट्रीय आतंकी समूह से कोई संबंध नहीं है।’

हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली : इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह ने दावा किया है कि अमेरिका के लास वेगास में गोलीबारी की घटना को उसके एक ‘सिपाही’ ने अंजाम दिया है जिसने ‘कई महीने पहले इस्लाम स्वीकार कर लिया था।’

आईएस की दुष्प्रचार एजेंसी अमाक ने ऑनलाइन बयान में कहा, ‘लॉस वेगास हमले को अंजाम देने वाला इस्लामिक स्टेट का एक सिपाही है’ और उसने जेहादियों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई में शामिल देशों से बदला लेने के लिए इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। अपने इस दावे के पक्ष में आईएस ने कोई साक्ष्य पेश नहीं किया है। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :