Widgets Magazine

बगदादी गिरफ्तार, क्रूर आतंकी के बर्बर किस्से सुन दहल उठेंगे आप...

पुनः संशोधित बुधवार, 19 अप्रैल 2017 (11:49 IST)
दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस के सरगना अबू बक्र अल-बगदादी को गिरफ्तार कर लिया गया है। यूरोपीय सुरक्षा और सूचना विभाग के महासचिव कार्यालय के अनुसार के सरगना को जिंदा पकड़ लिया गया है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों इराक और सीरिया में आतंकियों की कमर तोड़ दी गई है। 
 
मंगलवार रात को आईएस प्रमुख अबू बकर अल-बगदादी को गिरफ्तार किए जाने की खबर आई है। यूरोपीय सुरक्षा और सूचना विभाग के महासचिव के सूचना कार्यालय ने इस बारे में घोषणा की है। हालांकि इस बारे में अभी तक पुख्ता जानकारी नहीं मिल रही है।
 
यूरोपीय एजेंसी डीईएसआई के हवाले से आ रही इस खबर में कहा गया कि उनके कार्यालय को सटीक जानकारी मिली है कि सीरिया और रूस के संयुक्त खुफिया निगरानी मिशन के तहत सीरिया के उत्तर में आतंकी अबू बकर अल-बगदादी को गिरफ्तार कर लिया गया है।
 
सुरक्षा बलों के बढ़ते दबाव के चलते बगदादी ने 2 अप्रैल, 2017 को मोसुल छोड़ दिया था और वह सीरियाई सीमावर्ती इलाकों की तरफ आ गया था। डीईएसआई के मीडिया कार्यालय ने संकेत दिया कि इस ऑपरेशन के विवरण की सटीक जानकारी मिलने और इस जानकारी की पुष्टि में थोड़ा समय लग सकता है।
 
मीडिया कार्यालय ने बताया कि मामला खुफिया इकाइयों की एकता से जुड़ा हुआ है जिसके परिणामस्वरूप खान शायखुन में हेअर हवाई अड्डे और रसायन के इस्तेमाल की जानकारी मिली थी, लेकिन इसमें किसी सीरियाई दल ने भाग नहीं लिया है। यह मामला अमेरिका, रूस और संयुक्त राष्ट्र के प्रतिनिधि तक ही सीमित है।
 
डीईएसआई की खबर के मुताबिक अल-बगदादी के बारे में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन एक राजनीतिक समझौते पर चर्चा कर सकते हैं, जो अमेरिका की विश्वसनीयता को कमजोर कर सकता है। इससे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर रूस अपने दावों के साथ विश्वसनीयता पा सकता है, प्रासंगिक हो सकता है।
 
डीईएसआई ने वहां के विभागाध्यक्ष लुसियानो कॉन्स्टर्टी और कार्यकारी परिषद से संपर्क करने के बाद अल-बगदादी की गिरफ्तार पर बहुत संतोष व्यक्त किया है। उनका मानना है कि इससे अतीत में हुई कई घटनाओं के बारे में स्पष्ट जानकारी हासिल करने में मदद मिलेगी।
 
बगदादी की गिरफ्तारी की बात को इस बात से भी बल मिल रहा है कि कुछ दिन पहले बगदादी ने एक भाषण दिया था, जिसे उसका आखिरी भाषण माना गया था। उसमें उसने अरब के बाहर से आए आईएसआईएस के लड़ाकों को आदेश दिया है कि वे अपने वतन लौट जाएं या खुद को बम से उड़ा लें।
 
सुनकर दहल जानेगे बगदादी की बर्बरता के किस्से: 
 
4 साल की बच्ची का सिर कलम : 19 जून, 2016, राक्का, सीरिया, आईएसआईएस के जुल्मो-सितम के इतिहास में ये शायद अब तक का सबसे काला दिन था, क्योंकि इस रोज आईएसआईएस ने महज़ चार साल की एक बच्ची का सिर इसलिए कलम कर दिया था कि वो घर जाना  को तैयार नहीं थी, तब मां ने गुस्से में अल्लाह की कसम खाते हुए ये कहा कि अगर वो घर नहीं गई तो वो उसका सिर काट देगी। बस, इतनी सी बात आतंकवादियों के कानों में पड़ गई। फिर तो आतंकवादियों ने उस मां को ही बच्ची का सिर काटने के लिए कहा, लेकिन जब वो इसके लिए राज़ी नहीं हुई, तो आतंकवादियों ने खुद ही बच्ची का सिर काट डाला और उसकी मां के हाथ उसके खून से सान दिए। 
 
मासूमों को बनाया बेरहम कातिल : कब्स ऑफ खेलिफ़ेट यानी खिलाफ़त के शावक के नाम से मासूम बच्चों को दहशतगर्दी की आग में झोंक कर आईएसआईएस ने उनसे अपने दुश्मनों पर गोली चलवाई। आईएसआईएस ने हजारों मासूमों से मौत की सजा पाने वालों के सिर पर गोलियां चलवा कर उन्हें बेरहम कातिल बना डाला। 
 
ऊंचाई से फेंककर मारना : सम्लैंगिकता या व्याभिचार के जुर्म के आरोपी को किसी इमारत की सबसे ऊपरी मंजिल पर ले जाया जाता है। फिर इमारत के नीचे खड़े लोगों के बीच मुनादी कर उसके गुनाहों की कहानी सुनाने के बाद उसे ऊपर से सीधे नीचे धकेल दिया जाता था। यदि इसके बाद भी वो नहीं मरता था तो नीचे तमाचा देख रहे लोगों को उसे पत्थरों से मार डालने के लिए विवश किया जाता था। 
 
सूली पर लटका कर मारना : दावा है कि कई अमेरिकी जासूसों को बगदादी के आतंकियों ने सूली पर लटका कर वीभत्स तरीके से मौत दी थी। कसाई खाने में जिस तरह जिब्हा करने के बाद जानवर को लटकाया जाता है. वैसे ही इन बंधकों को लटकाने के लिए आतंकियों ने पहले तो इनके हाथ बांधें और फिर एक एक करके उनके गले रेत दिए। 
 
पिंजरे में बंद कर जिंदा जला देना: सीरिया में तुर्की के दखल के बाद बगदादी ने पकड़े गए तुर्क सैनिकों को पहले पिंजरे में बंद किया फिर पेट्रोल से नहला कर उन्हें जिंदा जला दिया गया। 
 
सिर पर गोली मारना: आईसिस के आतंकियों ने हजारों लोगों की हत्या सिर पर गोली मार कर की थी। उन्होंने बंदियों को घुटने के बल बिठाकर सिर पर गोली मार कर उनकी हत्या कर दी थी।   


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine