Widgets Magazine

ऊर्जा निर्यात पाइप लाइन के मसले पर रूस से खिन्न है अमेरिका

पुनः संशोधित गुरुवार, 12 जुलाई 2018 (09:33 IST)
ब्रसेल्स। अमेरिका ने कहा है कि नॉर्ड स्ट्रीम दो पाइप लाइन के जरिए यूरोप को बांटने का प्रयास कर रहा है और जो कंपनियां इस परियोजना में रूस के साथ निवेश कर रही हैं, वे अपने जोखिम पर काम कर रही हैं तथा उन पर प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं।

के प्रवक्ता के मुताबिक, हमने महसूस किया है कि रूस की ऊर्जा निर्यात पाइप लाइन क्षेत्र की इस परियोजना में जो विदेशी कंपनियां शामिल हैं, वे कारोबार कर रही हैं और उन पर प्रतिबंधों का जोखिम मंडरा रहा है।

प्रवक्ता के मुताबिक, हमारा मानना है कि इस पाइप लाइन परियोजना से यूरोप की कुल ऊर्जा सुरक्षा प्रभावित हो सकती है और इससे क्षेत्र में स्थिरता को भी चुनौती है। यूरोपीय देशों के लिए रूस इस परियोजना को इस क्षेत्र में दादागिरी के तौर पर इस्तेमाल कर सकता है।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को जर्मनी के खिलाफ काफी प्रतिकूल टिप्पणी की थी कि वह ऊर्जा जरूरतों के लिए रूस के सामने बंधक जैसी हालत में है और इसी के चलते जर्मनी ने बाल्टिक सागर से जर्मनी के बीच मंजूरी दी है, जबकि परियोजना के लिए पारंपरिक रास्ता यूक्रेन से होकर जाता है। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :