इस तरह करें नौ ग्रहों को अनुकूल

Last Updated: मंगलवार, 21 नवंबर 2017 (14:33 IST)
डिवाइन एस्ट्रो हीलर केके मिश्रा यानी कृष्णा गुरुजी का मानना है कि के माध्यम से व्यक्ति स्वयं नौ ग्रहों को अनुकूल कर समस्याओं से मुक्ति पा सकता है।

डिवाइन एस्ट्रो हीलिंग समस्याओं को स्वयं हील करने की विधा है। इसके माध्यम से व्यक्ति विपरीत परिस्थितियों को अनुकूल कर सकता है। कुंडली के 12 घरों को एक एक कर ठीक कर सकता है। मिश्रा का मानना है कि यह विधा खुद से खुद के जुड़ाव का अहसास कराती है। उन्होंने कहा कि जब रावण जैसा व्यक्ति ग्रहों के अपने कब्जे में कर सकता है तो हम कम से कम साधना के माध्यम से उन्हें अपने अनुकूल तो कर ही सकते हैं।

मिश्रा गुरुजी का दावा है कि हीलिंग के माध्यम से असाध्य रोग भी ठीक हो जाते हैं। हालांकि वे मानते हैं कि वे तो सिर्फ माध्यम हैं यह सब करती तो ईश्वरीय शक्ति ही है। मिश्रा का कहना है कि मैं विश्वास के साथ उपाय करता हूं। अन्य व्यक्ति भी खुद का उपचार कर सकते हैं। जब पशु अपना उपचार कर सकते हैं तो इंसान क्यों नहीं? साधना के जरिए व्यक्ति दूसरों को भी हील कर सकता है।

उन्होंने कहा कि ज्योतिष को विज्ञान भी स्वीकार करता है। हालांकि उन्होंने कहा कि विज्ञान में पहले प्रूव होता है, फिर एक्सेप्ट, जबकि डिवाइन हीलिंग में पहले एक्सेप्ट फिर प्रूव होता है। मिश्रा ने कहा कि खुद से जुड़ेंगे तो सारी शक्तियां खुद ब खुद आपसे जुड़ जाएंगी। यदि व्यक्ति खुद से जुड़ गया तो कोई ताकत फिर उसे नहीं रोक

गुरुओं को लेकर नकारात्मक माहौल की बात पर मिश्रा कहते हैं कि विश्वास करें, अंधविश्वास नहीं। गुरु तत्व को भीतर से महसूस करें और साधना से जुड़े रहें। उन्होंने कहा कि डिवाइन एस्ट्रो हीलिंग कोई व्यक्ति सीखा सकता है। यह पूरी तरह नि:शुल्क है।

ऑस्ट्रेलिया आमंत्रित : आध्यात्मिक तंरगों द्वारा बुल्गेरिया, दुबई, मलेशिया में असाध्य रोगों का निशुल्क इलाज करने वाले कृष्णा मिश्र 22 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया के पर्थ के लिए उड़ान भरेंगे। उनका सेशन 25 नवंबर को पर्थ में है। वहां वे विकलांग आश्रम, थैलीसिमिया से ग्रस्त बच्चों को हीलिंग देंगे। वे डिवाइन एस्ट्रो हीलिंग द्वारा सब को निशुल्क हीलिंग भी सिखा रहे हैं।


और भी पढ़ें :